Breaking News

लालकृष्ण आडवाणी को गिरफ्तार करने वाले व RSS को आतंकवाद से जोड़ने वाले आर.के. सिंह भी मोदी की नई कैबिनेट में

नई दिल्ली। मोदी की नई कैबिनेट में ऐसे भी एक शख्स को शामिल किया गया है, जिसने कहा था कि संघ के लोग आतंकवाद से जुड़े हुए हैं. इतना ही नहीं, उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी को भी गिरफ्तार करने का काम किया था. ये कारनामा करने वाले आरके सिंह मोदी कैबिनेट के नए मंत्री हैं.

 रविवार को आरके सिंह मोदी कैबिनेट में राज्यमंत्री की शपथ ली है. सिंह ने केंद्रीय गृह सचिव पद पर रहते हुए 23 जनवरी 2013 के बयान दिया था कि इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि संदिग्ध आतंकी कभी न कभी संघ के कैंपों के साथ जुडे रहे हैं.

आरके सिंह ने कहा था कि सुनील जोशी, संदीप डांगे, कमल चौहान और देवेंद्र गुप्ता जैसे दस संदिग्ध हैं जिनके संघ के साथ रिश्ते रहे हैं. उनके पास 10 आतंकियों के आरएसएस से लिंक के सबूत हैं.

हालांकि बीजेपी में शामिल होने के बाद आरके सिंह अपने इस बयान से पलट गए थे. उन्होंने कहा था कि ये विचार उनके नहीं, सरकार के थे.

Loading...

 आडवाणी के गिरफ्तार किया था

इतना ही नहीं आरके सिंह ही वह शख्स थे, जिन्होंने 1990 में सोमनाथ से अयोध्या की यात्रा पर निकले लालकृष्ण आडवाणी का रथ बिहार के समस्तीपुर में रोक लिया था और आडवाणी के गिरफ्तार कर लिया था. आरके सिंह उस समय  समस्तीपुर के जिलाधिकारी थे.

आरके सिंह 1975 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी आर के सिंह जून 2011 में केंद्रीय गृह सचिव बने थे और दो साल बाद जून 2013 रिटायर हुए. इसके बाद उन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर लिया था और 2014 में बिहार के आरा लोकसभा से सांसद बनकर आए है और मोदी सरकार के रविवार को हुए फेरबदल में उन्होंने केंद्रीय राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *