Breaking News

जाट आंदोलन पर बोले खट्टर, चाहते हैं स्थायी समाधान

violentचंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जाट आरक्षण के मुद्दे पर समझौते के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस मुद्दे का स्थायी समाधान तलाशने की कोशिश कर रही है। सीएम ने यह भी कहा कि सरकार इस विरोध का हल निकालने के लिए सभी संबंधित पक्षों से बातचीत करने को तैयार है।
खट्टर ने कहा कि बातचीत से ही मुद्दों का समाधान निकलेगा। उन्होंने इस संबंध में विचार करने के लिए एक समिति बनाने की भी घोषणा की है। समिति की सिफारिशों के आधार पर जाटों द्वारा सरकारी नौकरियों व शैक्षणिक संस्थानों में दाखिले के लिए आरक्षण दिए जाने की मांग पर सरकार आगे कोई फैसला लेगी। इससे पहले भी सरकार ने कमजोर आर्थिक वर्ग के तहत दिए जाने वाले कोटे को 10 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद करने के लिए रजामंदी दिखाई थी, लेकिन जाट नेता ओबीसी में शामिल किए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं।

उधर, राज्य में नौकरी के लिए जाट आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा विरोध गुरुवार को हिंसक हो गया। रोहतक में प्रदर्शनकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इससे पहले कुछ असामाजिक तत्वों ने आग लगाकर 5 बाइकों को फूंक दिया था।

विरोध प्रदर्शन के तीसरे दिन पंडित नेकी राम शर्मा सरकारी कॉलेज के पास जमा प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने आंसू गैस गोले भी चलाए। सुभाष चौक के पास प्रदर्शनकारियों की उग्र भीड़ ने 4 बाइकों में आग लगा दी। छोटू राम चौक के पास भी एक बाइक को फूंक दिया गया। वहीं रोहताक जिले में एक और जगह से दुपहिया वाहन जलाए जाने की भी खबर मिली है। प्रदर्शनकारियों की भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस की 20 कंपनियों के अलावा सीमा सुरक्षा बल के जवानों को शहर भर में तैनात किया गया है।


गुरुवार को प्रदर्शनकारियों ने रोहतक शहर में कई बाइक फूंक दिए। जिला प्रशासन ने शहर में धारा 144 लगा दी है…
प्रदर्शनकारियों ने सड़कों व राष्ट्रीय राजमार्गों को जाम कर दिया था। गुरुवार को विरोध और भी ज्यादा तीव्र हो गया। हालांकि राज्य सरकार ने जाट समुदाय को शांत कराने की मंशा से घोषणा की थी कि वह आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए आरक्षित कोटे को 10 से बढ़ाकर 20 फीसद कर देगी।

रोहतक पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा का गृहनगर है। पुलिस को लगा था कि यहां के हालात और भी ज्यादा बिगड़ सकते हैं। ऐसे में पुलिस ने फ्लैग मार्च कर सड़कों को खाली करवाना शुरू किया। जिला प्रशासन ने शहर में धारा 144 लागू कर दिया है। प्रदर्शनकारियों से तत्काल सड़क खाली करने को कहा गया है। बाद में राज्य के अन्य शहरों के लिए भी निषेधात्मक आदेश जारी कर दिए गए। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 10 और सभी आंतरिक सड़कों को प्रदर्शनकारियों ने लगभग पूरी तरह से ही बंद कर दिया था।

जाटों द्वारा मांगे जा रहे इस आरक्षण का विरोध करने वाले कुछ समुदायों ने कथित तौर पर वकीलों के एक समूह पर हमला किया। ये वकील भी आरक्षण की मांग कर रहे थे। सूत्रों ने बताया कि हमले में एक वकील घायल हो गया है। हिसार और फतेहाबाद में भी प्रदर्शनकर्ताओं ने सड़क बंद कर दिए हैं। रोहतक और झज्जर जहां इस विरोध प्रदर्शन के केंद्र बने हुए हैं, वहीं राज्य के अलग-अलग हिस्सों से भी सड़क बंद करने की सूचना मिल रही है। इनमें भिवानी, कैथल, जींद और सोनीपत भी तीव्र प्रदर्शन में शामिल हैं। कई जगहों से रेलवे पटरियां भी बंद करने की खबरें मिल रही हैं।


हिसार में रेल पटरी पर धरना देकर ट्रेनों का मार्ग जाम करते जाट आंदोलनकारी….
रोहतक और दिल्ली से जुड़े राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 10 पर सांपला से आगे गाड़ियां नहीं जा पा रही हैं। तेल टैंकर सहित लगभग 1,500 गाड़ियां सड़क बंद के कारण फंसी हुई हैं। हिसार में कॉलेज के छात्र भी आरक्षण के पक्ष में विरोध कर रहे हैं। प्रभावति इलाकों में स्थित कुछ निजी स्कूलों के प्रबंधन ने भी बेकाबू हालात के मद्देनजर स्कूल में छुट्टी की घोषणा कर दी है।

Loading...

दलाल खाप के नेता कैप्टन मान सिंह ने कहा कि जब तक राज्य सरकार विधानसभा में जाटों के लिए आरक्षण तय करने को नियम नहीं बनाती है, तब तक वह अपना विरोध जारी रखेंगे। बुधवार को मान सिंह सहित 126 जाट नेताओं ने इस विवाद को सुलझाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ बैठक की थी। उन्होंने बताया, ‘हमने मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए आश्वासन के बारे में विमर्श किया, लेकिन सड़कों पर बैठे प्रदर्शनकर्ता घेराव और बंद तक खत्म करने को तैयार नहीं हैं, जब तक कि हमारी मांगे नहीं मान ली जाती हैं।’


राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 10 पर 1,500 से भी ज्यादा गाड़ियां फंसी हुई हैं…
अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के नेता यशपाल मलिक ने भी घोषणा की है कि वे विरोध वापस नहीं लेंगे। समिति के एक वरिष्ठ सदस्य कृशन किरमारा भी सीएम के साथ हुई बैठक में मौजूद थे। उन्होंने कहा, ‘हम सीएम द्वारा आर्थिक रूप से पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित कोटा बढ़ाए जाने की बात से खुश नहीं हैं।’ रोहतक के कार्यकारी एसपी सौरभ सिंह ने बताया कि पुलिस ने आधे दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। उन्होंने कहा, ‘हमने रोहतक में बंद की गई सभी सड़कों को खुलवा दिया है।’

कुरुक्षेत्र में जाट छात्रों का विरोध

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के जाट छात्रों के एक समूह ने गुरुवार को परिसर में ही एक विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने ओबीसी कोटा के अंतर्गत आरक्षण दिए जाने की मांग की। छात्रों ने उपकुलपति के दफ्तर के सामने विरोध किया और बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बाद में इन छात्रों ने कुरुक्षेत्र-पीहोवा सड़क पर ट्रैफिक को बंद कर वहां धरना भी दिया। पुलिस ने इस मार्ग से ट्रैफिक का रुख बदलकर झांसा रोड के बाहरी रिंग रोड पर कर दिया।

इंडियन नैशनल लोकदल ने की विशेष सत्र बुलाने की मांग

सरकारी नौकरियों व शैक्षणिक संस्थानों में जाटों के लिए आरक्षण का मांग का समर्थन कर रहे, हरियाणा के मुख्य विपक्षी दल इंडियन नैशनल लोकदल ने राज्य विधानसभा में इस संबंध में बिल पास कराने के लिए एक विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग की है। विपक्षी नेता अभय सिंह चौटाला ने गुरुवार को कहा कि विधानसभा में दो-सूत्रीय प्रस्ताव पारित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेजा जाएगा। चौटाला ने कहा, ‘4 राज्यों में जाट समुदाय को आरक्षण दिया जा चुका है और हरियाणा में रहने वाले जाटों को भी यह लाभ मिलना चाहिए।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *