Friday , November 27 2020
Breaking News

राजस्थान: IPS की पत्नी का आरोप- दूसरी महिला के साथ लिव इन में रह रहे हैं पति

महिला आयोग आईं आईपीएस पंकज चौधरी की पत्नी मोबइल में दिखाती शादी के बाद एक ट्रिप की फैमिली फोटो।
महिला आयोग आईं आईपीएस पंकज चौधरी की पत्नी मोबइल में दिखाती शादी के बाद एक ट्रिप की फैमिली फोटो।

जयपुर। राजस्थान कैडर के आईपीएस पंकज चौधरी की पत्नी ने राजस्थान राज्य महिला आयोग में गुहार लगाई है। उनका आरोप है कि पंकज उन्हें छोड़ दूसरी महिला के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे हैं। पत्नी का दावा है कि लिव इन में रह रही महिला से अफसर को एक बेटा भी है, जिसका सबूत उनके पास है। महिला आयोग ने इनकी शिकायत दर्ज कर ली है। सितंबर, 2014 में राजस्थान के बूंदी में हुए दंगे के दौरान वहां के एसपी रहे पंकज अपनी ही सरकार को घेर चुके हैं।

– आईपीएस पंकज चौधरी की पत्नी सुधा गुप्ता का कहना है कि यूपी के बलिया जिले के रहने वाले पंकज से 4 दिसंबर, 2005 को उनकी शादी वाराणसी में हुई थी।
– सुधा के मुताबिक, 2008 तक वह अपने ससुराल और अपने पति पंकज के साथ रहीं। 2008 में इन्हें एक बेटी भी हुई जिसका नाम शुची है। वर्ष 2009 में पंकज का सिलेक्शन आईपीएस में हो जाने के बाद इन्होंने अपनी पत्नी से दूरी बनानी शुरु कर दी।
‘दूसरी महिला के साथ लिव इन में रह रहे हैं पंकज’
– आरोप के मुताबिक, पंकज मुकुलिका नाम की एक महिला के साथ लिव इन में रह रहे हैं।
– बताया जा रहा है कि इस महिला से पंकज को 14 मई, 2011 को एक बेटा भी हुआ है। जिसका सबूत एक हॉस्पिटल से मिला है।
– सुधा गुप्ता ने 18 फरवरी, 2013 को भी राज्य के होम सेक्रेटरी से शिकायत की थी। शिकायत की कॉपी राज्य महिला आयोग, राजस्थान के डीजीपी, दिल्ली महिला आयोग व राजस्थान के राज्यपाल को भी भेजी थी।
तलाक की अर्जी दे चुका हूं
– इस मामले में पंकज ने भी अपना पक्ष रखा है।
– पंकज का कहना है कि शादी के बाद विवाद होने पर उन्होंने बनारस फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर की थी। अर्जी 21 दिसंबर, 2013 को खारिज हो गई।
– मामला फिलहाल इलाहाबाद हाईकोर्ट में है।
– जहां तक महिला आयोग में फिर से इसे लाने का मामला है तो ये कहीं न कहीं स्पॉन्सर्ड लगता है।
– चूंकि, बूंदी में हुआ दंगा प्रायोजित था। अब मैं इसका जवाब देने की स्थिति में हूं। तभी इस तरह की चीजें लाकर मुख्य मुद्दे को न्यूट्रलाइज करने की कोशिश की जा रही है।
‘पत्नी का लंबे समय से चेहरा नहीं देखा’
– पंकज ने कहा, जब से मैंने डिवोर्स फाइल किया है तब से मैंने पत्नी का चेहरा ही नहीं देखा है।
– बहुत सी बातें कहने लायक नहीं होती हैं। डिपार्टमेंट ने भी जांच कर ली है।
– महिला आयोग ने पहले भी जांच कर ली है। मैंने कई सारी जांच झेली हैं। मुझे न्याय पर पूरा भरोसा है।
पंकज और सरकार क्यों हैं आमने-सामने
– बूंदी के नैनवां गांव में हुए दंगा मामले में चार्जशीट मिलने के बाद 2009 बैच के आईपीएस पंकज चौधरी ने सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
– चौधरी ने कहा है कि वे अब दंगों का सच सामने लाएंगे। मामले में पांच आईपीएस और दो आईएएस फंसेंगे। – वे मामले को कोर्ट तक ले जाएंगे और असल में जो गुनहगार हैं, उन्हें तथा उन्हें बचाने वालों को सामने लाकर ही चैन लेंगे।
– आईपीएस अफसर पंकज चौधरी नई दिल्ली में 11वीं बटालियन आरएसी में कमांडेंट हैं।
– चौधरी ने आरोप लगाया है कि राजस्थान के बूंदी में एसपी रहते हुए इन्होंने दंगा रोकने के लिए जिन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की उन्हें बाद में छोड़ दिया गया।
– इनके ऊपर दंगाइयों को छोड़ने का दबाव और निर्दोष मुस्लिमों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज करने का आरोप था।
– इनका आरोप है कि कार्रवाई के कुछ ही दिनों बाद इनका तबादला कर दिया गया था।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *