Breaking News

मोदी-राजनाथ-शाह से मिले योगी आदित्यनाथ, विभागों के बंटवारे पर फैसला जल्द

नई दिल्ली। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि पार्टी अध्यक्ष से उनकी मुलाकात यूपी में मंत्रियों के विभागों के बंटवारे से जुड़ी हुई है। किसे कौन सा विभाग देना है, इस बात का फैसला इस मीटिंग में होना है। बता दें कि गृह मंत्रालय को लेकर योगी और उनके डेप्युटी केशवप्रसाद मौर्य के बीच खींचतान चल रही है। दोनों की ही नजरें इस विभाग पर हैं। मंगलवार शाम या बुधवार को विभागों के बंटवारे का ऐलान मुमकिन है।

बता दें कि आदित्यनाथ का वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और बीजेपी वेटरन लीडर लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात तय था। सीएम बनने के बाद योगी पहली बार दिल्ली पहुंचे हैं। वहीं, गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात में उन्होंने राज्य की कानून-व्यवस्था से लेकर कई मुद्दों पर चर्चा की। गृह मंत्री ने नए सीएम को हर तरह की मदद देने का आश्वासन दिया। गृह मंत्री भी यूपी के सीएम रहे हैं और फिलहाल लखनऊ की लोकसभा सीट से सांसद हैं।

वहीं, इससे पहले, योगी की मीटिंग पर बीजेपी प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा, ‘दिल्ली में संसदीय बोर्ड की बैठक हो रही है। यूपी के सीएम आदित्यनाथ के अलावा मणिपुर, गोवा और उत्तराखंड के सीएम भी उस बैठक में शिरकत करने वाले हैं।’ त्रिपाठी ने इस बात की पुष्टि की कि शाह और मोदी से मुलाकात के दौरान मंत्रियों को आवंटित किए जाने वाले विभागों पर फैसला हो सकता है। इससे पहले, यूपी के कैबिनेट मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भी कहा कि मंत्रियों के बंटवारे पर जल्द फैसला हो सकता है।

Loading...

इससे पहले, एक अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम में गोरखपुर के कैंपियरगंज से बीजेपी विधायक फतेह बहादुर सिंह ने अपनी सीट योगी के लिए छोड़ने का प्रस्ताव दिया। योगी फिलहाल गोरखपुर से सांसद हैं और यूपी विधानसभा के किसी भी सदन के सदस्य नहीं है। माना जा रहा है कि योगी जल्द ही सांसद पद से इस्तीफा दे सकते हैं।

सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने सोमवार को मंत्रियों के विभाग बंटवारे के पहले पार्टी के प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल और दोनों डिप्टी मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य व दिनेश शर्मा से चर्चा कर ली है। सूत्रों ने हमारे सहयोगी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि पूर्व की परंपरा की तरह यह विभाग सीएम के पास ही बने रहने की उम्मीद है। वहीं, मौर्य के एक समर्थक ने बताया कि गृह और अन्य विभागों के बंटवारे को लेकर सीएम और उनके डेप्युटी मौर्य और दिनेश शर्मा के बीच सोमवार को काफी राय मशविरा हुआ। सोमवार को वीवीआईपी गेस्ट हाउस में सीएम आदित्यनाथ ने दोनों डेप्युटी सीएम और बीजेपी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल के साथ मिलकर विभागों के आवंटन पर बातचीत जरूर की, पर कोई फैसला नहीं हो पाया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *