Tuesday , June 15 2021
Breaking News

लखनऊ में योगी आदित्यनाथ ने संभाली यूपी सरकार की कमान, दो डिप्टी सीएम के साथ 46 मंत्रियों ने ली शपथ

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ ने आज उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली. योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में दो डिप्टी सीएम, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 13 राज्य मंत्रियों सहित कुल 46 मंत्रियों ने शपथ ली. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली.

इस दौरान मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्य़क्ष अमित शाह मौजूद रहे. यह शपथग्रहण लखनऊ स्थित कांशीराम स्मृति उपवन में हुआ.

राज्य मंत्री

Loading...
  • सुरेश पासी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह कांग्रेस के राधेश्याम धोभी को हराकर चुनाव जीते हैं. 35 साल के पासी अमेठी की जगदीशपुर सीट से चुनाव जीते हैं.
  • संदीप सिंह ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह के नाती हैं. यह अलीगढ़ की अतरौली सीट से पहली बार विधायक बने हैं. यह लोशी समाज से आते हैं.
  • मनोहर लाल पंथ ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह बुंदेलखंड इलाके से आते हैं. 62 साल के मनहोर लाल ललितपुर की महरौनी सीट से विधायक बने हैं.
  • बलदेव सिंह ओलख ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. 57 साल के ओलख सिख समुदाय से आते हैं. यह रामपुर की बिलासपुर सीट से चुनाव जीते हैं.
  • गिरीश यादव ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह योगी मंत्रिमंडल में एक मात्र यादव नेता हैं. इन्होंने कांग्रेस नेता नदीम जावेद को हराया था.
  • पूर्व रणजी क्रिकेटर मोहसिन रजा ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. फिलहाल ये किसी भी सदन के सदस्य नहीं है. 49 साल के मोहसिन यूपी में एक मात्र मुस्लिम चेहरा हैं
  • नीलकंठ तिवारी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह वाराणसी दक्षिण से चुनाव जीते हैं. श्यामदेव चौधरी का टिकट काटकर इन्हें दिया गया था.
  • रणवेंद्र प्रताप सिंह ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह धुन्नी सिंह के नाम से भी जाने जाते हैं.
  • अतुल गर्ग ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. अतुल गर्ग गाजियाबाद सीट से विधायक बने हैं. अतुल गर्ग बनिया जाति से आते हैं. इनकी उम्र 54 साल है.
  • जयकुमार सिंह जैकी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. यह अपना दल कोटे से मंत्री बने हैं. 50 साल के जयकुमार कुर्मी नेता हैं. यह जहानाबाद विधानसभा सीट से विधायक बने हैं.
  • अर्चना पांडे ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है. 56 साल की अर्चना पांडे डिंपल यादव के संसदीय क्षेत्र से विधायक बनी हैं. यह कन्नौज की छिबरा मऊ सीट से विधायक बनी हैं.
  • जयप्रकाश निषाद ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली है.

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)

  • गुलाबो देवी ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. बीजेपी के राजभर चेहरा हैं. गुलाबो देवी दलित समाज से आती हैं. यह यूपी की चंदौसी सीट से बीजेपी की विधायक हैं. इन्होंने कांग्रेस की विमलेश कुमारी को हराया था.
  • स्वाति सिंह ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. स्वाति ने अखिलेश के भाई अनुराग को हराया है. स्वाति सिंह बीजेपी नेता दयाशंकर की पत्नी हैं. मायावती गाली विवाद के बाद बीजेपी ने इन्हें टिकट दिया था.
  • अनिल राजभर ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. बीजेपी के राजभर चेहरा हैं.
  • धर्म सिंह सैनी ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह बीएसपी से बीजेपी में आए हैं और मंत्री भी रह चुके हैं. 55 साल के धर्म सिंह आयुर्वेद के डॉक्टर हैं. सहारनपुर की नकुड़ सीट से चुनाव जीते हैं.
  • भुपेंद्र सिंह चौधरी ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह 1990 से बीजेपी के कई पदों पर रहे हैं. यह यूपी विधानसभा परिषद के सदस्य है. यह पश्चिमी यूपी में जाटों के बड़े नेता हैं.
  • स्वतंत्रदेव सिंह ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह कुर्मी जाति से आते हैं. यह अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं. आरएसएस से भी जु़ड़े रहे हैं.
  • डॉ महेंद्र सिंह ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह यूपी विधान परिषद के सदस्य हैं. यह असम में बीजेपी के प्रभारी भी है. ओडिशा में पंचायत चुनावों में बीजेपी की जीत में इनकी अहम भुमिका मानी जाती है.
  • उपेंद्र तिवारी ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह बलिया की फेफना सीट से चुनाव जीते हैं. यह दूसरी बार चुनाव जीते हैं.
  • सुरेश राणा ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है. यह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े चेहरे हैं. इनकी कट्टर हिंदुत्वादी की छवि है. यह मुजफ्फरनगर के थाना भवन से चुनाव जीते हैं. यह मुजफ्फरनगर दंगे के आरोपी भी हैं.
  • अनुपमा जेसवाल ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है.

कैबिनेट मंत्री

  • नंद कुमार नंदी ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह इलाहाबाद दक्षिण से बीजेपी विधायक बने हैं. यह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे. यह केशव प्रसाद मौर्य के करीबी माने जाते हैं.
  • आशुतोष टंडन ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह लखनऊ उत्तर से चुनाव जीते हैं. यह लाल जी टंडन के बेटे हैं. आशुतोष को बीजेपी का ब्राह्म्ण चेहरा माना जाता है.
  • मुकुट बिहारी वर्मा ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह दूसरी बार बहराइच की कैसरगंज सीट से चुनाव जीते हैं.
  • सिद्दार्थनाथ सिंह ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. सिद्दार्थनाथ बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं. यह इलाहाबाद पश्चिम से बीजेपी विधायक चुने गए हैं. यह पू्र्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाती हैं.
  • राजेंद्र प्रताप सिंह ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. मोती सिंह के नाम से मशहूर हैं. यह चौथी बार विधानसभा पहुंचे हैं. 2003 में यूपी के कृषि मंत्री भी रह चुके हैं.
  • श्रीकांत शर्मा ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं. यह मथुरा सीट से विधायक बने हैं. श्रीकांत को अमित शाह का बेहद करीबी माना जाता है. इनका नाम भी सीएम पद की रेस में शामिल था.
  • पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. चेतन को 1981 में अर्जुन अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है. दो बार यूपी के अमरोहा से सांसद रह चुके हैं.
  • लक्ष्मीनारायण चौधरी ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह बीएसपी छोड़कर बीजेपी में आए हैं. यह मथुरा की छातापुर सीट से चुनाव जीते हैं. चौधरी का जाटों में काफी दबदबा रहा है. यह मायावती सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं.
  • ब्रिजेश पाठक ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह बीएसपी छोड़कर बीजेपी में आए हैं. य़ह लोकसभा और राज्यसभा के सांसद भी रह चुके हैं. यह बीएसपी से दो बार सांसद रह चुके हैं. यह लखनऊ सेंट्रल से विधायक चुने गए हैं.
  • ओम प्रकाश राजभर ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. ओम प्रकाश ने गाजीपुर की जहूराबाद सीट से चुनाव जीते हैं. इन्होंने बीएसपी के नेता को हराया है.
  • जयप्रताप सिंह ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. जयप्रताप सिद्दार्थनगर की भांसी विधानसभा सीट से विधायक हैं.
  • रमापति शास्त्री ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह यूपी के पूर्व मंत्री रह चुके हैं. यह गोंडा के मनकापुर से बीेजेपी विधायक हैं.
  • सत्यदेव पचौरी ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. सत्यदेव तीसरी बार विधायक बने हैं. वह 1967 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से छात्र राजनीति में आए थे. यह कानपुर की गोविंदनगर सीट से जीते हैं.
  • एसपी सिंह बघेर ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. यह लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य रह चुके हैं. यह टूंडला विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक हैं. यह समाजवादी पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे.
  • धर्मपाल सिंह गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अमित शाह के करीबी माने जाते हैं. वह पार्टी में पिछड़ी जाति के चेहरे हैं. वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े नेता हैं.
  • साल 2015 में बीएसपी से बीजेपी में आए दारा सिंह चौहान ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. दारा सिंह मऊ की मधुबनी सीट से जीते हैं. दारा सिंह पूर्व सांसद रह चुके हैं.
  • कांग्रेस से बीजेपी में आई रीता बहुगुणा जोशी ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. उन्होंने अपर्णा यादव को हराया है. रीता कांग्रेस की दिग्गज नेता रह चुकी हैं. यह कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुकी हैं. इनकी उम्र 67 साल है. यह पूर्व सीएम हेमवती बहुगुणा की बेटी हैं.
  • राजेश अग्रवाल ने भी मंत्री पद की शपथ ली है. राजेश अग्रवाल संघ के काफी करीबी माने जाते हैं. पेशे से कारोबारी हैं राजेश. ये शाह और योगी के बेहद करीबी माने जाते हैं. यह बरेली कैंट से बीजेपी विधायक चुने गए हैं.
  • कानपुर से सात बार विधायक रहे सतीश महाना ने भी मंत्री पद की शपथ ले ली है. सतीश महाना सीएम पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे.
  • सुरेश खन्ना ने भी मंत्री पद की शपथ ले ली है. सुरेश खन्ना को आरएसएस का काफी करीबी नेता माना जाता है. सुरेश खन्ना का नाम भी सीएम पद की रेस में सामने आया था.
  • बीएसपी छोड़कर बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य ने यूपी में मंत्री पद की शपथ ली है. मौर्य ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर टिकट बेचने जैसे गंभीर आरोप लगाए थे.
  • योगी के अलावा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और बीजेपी नेता दिनेश शर्मा ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली है
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *