Thursday , June 24 2021
Breaking News

जेएनयू में MPhil कर रहे हैदराबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र ने की खुदकुशी

नई दिल्ली। हैदराबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र और जेएनयू में MPhil के छात्र मुतुकृष्णन (रजनी कृष) ने सोमवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। खुदकुशी की वजह का अभी पता नहीं चल पाया है। बता दें कि एक साल पहले हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित छात्र रोहित वेमुला की मौत हुई थी।

छात्रों के अनुसार रजनी भी अनुसूचित जाति से थे और वह रोहित वेमुला की मौत के बाद हुए आंदोलन में सक्रिय रहते थे। वह जेएनयू में MPhil कर रहे थे और तमिलनाडु के सलेम के रहने वाले थे। घटना पर दुख जताते हुए ‘जॉइंट ऐक्शन कमिटी फॉर सोशल जस्टिस’ के एक सदस्य ने बताया, ‘मुतुकृष्णन दलित आंदोलनों में सक्रिय रहते थे। हम इस घटना के बाद बेहद हैरान हैं। वह बहुत अच्छा लिखते थे और अच्छे स्कॉलर थे। उन्होंने पिछले साल रोहित वेमुला की मां पर बहुत अच्छा आलेख लिखा था।’

मुतुकृष्णन की मौत की खबर मिलते ही उनके फेसबुक प्रोफाइल पर दोनों विश्वविद्यालयों के छात्रों के मेसेज आने लगे। मुतुकृष्णन ने अपने फेसबुक पर लास्ट पोस्ट लिखा था, ‘अगर समानता नहीं है तो कुछ भी नहीं है। MPhil और पीएचडी ऐडमिशन में कोई बराबरी नहीं है। वाइवा में बराबरी नहीं है, केवल समानता का ढोंग होता है। प्रशासनिक भवन में छात्रों को प्रदर्शन नहीं करने दिया जाता है। हासिए के लोगों के लिए शिक्षा की बराबरी नहीं है।’

Loading...

विश्वविद्यालय के छात्र मुतुकृष्णन की मौत पर हैरान और चिंतित हैं। हैदराबदा विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र विन्सेट बेनी ने फेसबुक पर लिखा, ‘ह्रदय विदारक घटना है। भगवान उन्हें शांति दे। मुझे नहीं पता कि क्यों तुमने यह कदम उठाया। तुमने कई बाधाएं पार की हैं और शिक्षा ली थी। मुझे कभी तुमसे ऐसी उम्मीद नहीं थी।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *