Breaking News

बेंगलुरु: ज्यादा पानी यूज करने पर अरुणाचल प्रदेश के छात्र से मारपीट, चटवाए जूते, मकान मालिक गिरफ्तार

बेंगलुरु। अरुणाचल प्रदेश के छात्र हिगियो तामा के साथ बेंगलुरु में कथित तौर पर मारपीट हुई है और उसे मकान मालिक के जूते चाटने के लिए मजबूर किया गया। छात्र के साथ मारपीट की यह घटना 6 मार्च की है। छात्र के साथ मारपीट ज्यादा पानी इस्तेमाल करने की वजह से की गई है। सोमवार को पुलिस ने मकान मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी इस घटना पर दुख जताया है और कहा है कि दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। सिद्धारमैया ने ट्वीट किया, ‘अरुणाचल के छात्र पर हमला हैरान कर देने वाला है। पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है और दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।’

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक तामा ने कहा, ‘मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करने पर उनके खिलाफ घरेलू हिंसा का मामला दर्ज क्यों नहीं हो सकता। हम तीन लड़के एक साथ रहते थे, हमारे साथ 6 मार्च को मारपीट की गई। मैं आज दूसरी बार मकान मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने जा रहा हूं।’

Attack on student from Arunachal is shocking. Police has taken prompt action and the perpetrator has been arrested.

साथ ही उसने बताया, ‘मैंने केवल पांच मिनट के लिए पानी इस्तेमाल किया था और मैंने इसके लिए मकान मालिक से माफी भी मांगी थी। उसने मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी। उसने मुझे जूते चाटने के लिए मजबूर किया।’

Loading...

Swift Police action is being taken but whole society must own responsibility. We must ponder why such hatred & intolerant mindset exist? https://twitter.com/KirenRijiju/status/841202379143831556 

तामा के पिता का कहना है कि उन्हें बेंगलुरु पुलिस पर भरोसा है और दोषियों को सजा मिलेगी। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू भी अरुणाचल प्रदेश से हैं। उन्होंने सोमवार को इस घटना को ‘दुखदायी’ करार दिया। उन्होंने कहा पुलिस जांच के अलावा गृह मंत्रालय भी इस मामले पर नजर रखे हुए है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मेरा ऑफिस इस मामले को देख रहा है। जब हम लोग विदेश में भारतीय लोगों की सुरक्षा की बात कर रहे हैं, ऐसे में हमारे देश में ही ऐसी घटनाएं दुखदायी हैं। पुलिस ने कार्रवाई की है लेकिन पूरे समाज को इसकी जिम्मेदारी लेना चाहिए।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *