Saturday , December 5 2020
Breaking News

गुरुत्वीय तरंगों की खोज के लिए नरेंद्र मोदी ने भारतीय वैज्ञानिकों को बधाई दी

pm-modiनई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुत्वीय तरंगों की खोज में अहम भूमिका निभाने वाले भारतीय वैज्ञानिकों को बधाई दी है। इन तरंगों को ‘आइंस्टाइन तरंगें’ भी कहा जा रहा है क्योंकि अल्बर्ट आइंस्टाइन आज से तकरीबन 100 साल पहले ही इस बारे में अनुमान लगा लिया था।
गुरुत्वीय तरंगों की खोज को सदी की सबसे बड़ी खोज कहा जा रहा है। माना जा रहा है कि वैज्ञानिकों की यह उपलब्धि अंतरिक्ष विज्ञान को ज्यादा गहराई से समझने में मदद करेगी। गुरुत्वीय तरंगों की खोज करने वाले वैज्ञानिकों की टीम में भारतीय वैज्ञानिक भी शामिल थे और पीएम मोदी उन्हें बधाई देने में पीछे नहीं रहे। मोदी ने इस बारे में लगातार कई ट्वीट किए और वैज्ञानिंकों की तारीफ की।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा,’मुझे इसका बेहद गर्व है कि इस चुनौतीपूर्ण खोज में भारतीय वैज्ञानिकों ने अहम भूमिका निभाई है।’ मोदी ने ट्वीट किया,’गुरुत्वीय तरंगों की ऐतिहासिक खोज ब्रह्मांड को समझने में नए आयामों को जन्म देगी।’ पीएम मोदी ने अपने एक दूसरे ट्वीट में कहा,’मुझे उम्मीद है कि देश गुरुत्वीय तरंगों की खोज के साथ और अधिक योगदान करेगा और आगे बढ़ेगा।’

आइंस्टाइन से पहले तक अंतरिक्ष और समय को किसी भी असर से मुक्त माना जाता था। दशकों से वैज्ञानिक इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि क्या गुरुत्वीय तरंगें सचमुच दिखाई देती हैं। इसकी खोज करने के लिए यूरोपीयन स्पेप एजेंसी ने लीज पाथफाइंडर नाम का स्पेसक्राफ्ट अंतरिक्ष में भेजा था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *