Breaking News

केजरीवाल का टिकट 2 करोड़ में, फोन टैप से खुलासा

नई दिल्ली। दिल्ली में नगर निगम यानी एमसीडी के चुनावों में भी आम आदमी पार्टी के टिकटों की मंडी लग गई है। खबर है कि पार्षद चुनाव के लिए पार्टी ने 2-2 करोड़ रुपये में टिकट बेचे हैं। टिकट मांग रहे कई वॉलेंटियर्स ने आरोप लगाया है कि टिकट के बदले उनसे 1 से 2 करोड़ रुपये तक मांगे गए। एक फोन टैप भी सामने आया है, जिससे यह बात सही साबित हो रही है। दरअसल एमसीडी चुनाव में आम आदमी पार्टी के टिकट की सबसे ज्यादा डिमांड है। दूसरी पार्टियां अपने ही कार्यकर्ताओं को टिकट दे रही हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी ने कई जगहों पर ऐसे लोगों को भी टिकट दिया है, जिनका 2 दिन पहले तक आम आदमी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं था। ऐसा आरोप है कि ये सारे टिकट पैसे लेकर बांटे गए हैं। आम आदमी पार्टी अब तक कुल 198 उम्मीदवारों का एलान कर चुकी है और इस लिस्ट को गौर से देखें तो इसमें ज्यादातर करोड़पति और घोटालेबाजी के आरोपियों के ही नाम हैं।

दिल्ली के मादीपुर इलाके से टिकट मांग रही आम आदमी पार्टी की वॉलेंटियर आभा मित्तल और पार्टी के राज्यस्तर के एक नेता की फोन पर बातचीत की रिकॉर्डिंग सामने आई है। दावा किया जा रहा है कि जिस नेता से बात हो रही है वो दिल्ली आम आदमी पार्टी के संयोजक दिलीप पांडे हैं। वैसे जो टेप जारी किया गया है उसमें पैसे मांगने वाले का नाम नहीं बताया गया है। बातचीत कर रहे शख्स ने आभा मित्तल से कहा कि टिकट के लिए खर्च आप नहीं उठा पाओगी। इस पर जब उन्होंने पूछा कि एक अनुमान बता दीजिए कि करीब कितने पैसों का इंतजाम करना होगा तो उधर से जवाब मिला कि कम से कम 2 करोड़ देना होगा। आम आदमी पार्टी के ही एक नाराज गुट ने ये रिकॉर्डिंग जारी की है। ये वही लोग हैं जो लगातार मांग करते रहे हैं कि पार्टी अपने चंदे का हिसाब दे।

Loading...

आम आदमी पार्टी में टिकटों के लिए रिश्वतखोरी का ये वीडियो मीडिया के पास भी है, लेकिन केजरीवाल के विज्ञापनों के चक्कर में मीडिया इसे नहीं दिखा रहा है। इसके अलावा टिकटों के लिए पार्टी के पुराने समर्पित कार्यकर्ता भी नाराज हैं, लेकिन उनकी नाराजगी की खबरें भी चैनलों और अखबारों से गायब हैं।

198 उम्मीदवारों की लिस्ट में ज्यादातर टिकट पैसे वाले और दागी किस्म के लोगों को दिए गए हैं। कई जगहों पर ये बात छिपाने के लिए पत्नियों को टिकट दिया गया है ताकि ऊपर-ऊपर दावा किया जा सके कि ये आरोप गलत है। मिसाल के तौर पर सैदुल्लाजाब वार्ड के लिए जिस शख्स को टिकट दिया गया है वो जमीन कब्जाने का एक्सपर्ट माना जाता है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *