Tuesday , June 15 2021
Breaking News

भारत पर IS का हमला: ट्रेन में ब्लास्ट था आतंकियों का ‘ट्रायल रन’, सीरिया भेजी बम की तस्वीर

नई दिल्ली/भोपाल। भारत में आतंकवादी संगठन IS द्वारा किए गए पहले हमले को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। आतंकियों ने मंगलवार को मध्यप्रदेश के शाजापुर में ट्रेन में कम तीव्रता का जो ब्लास्ट किया गया, वह दरअसल उनका ‘ट्रायल रन’ था। आतंकी आगे किसी बड़े हमले की फिराक में थे। उधर मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आतंकियों के IS कनेक्शन की पुष्टि करते हुए बताया है कि ट्रेन में पाइप बम रखने के बाद इन आतंकियों ने इसकी तस्वीर सीरिया भेजी थी।

एक टॉप इंटेलिजेंस ऑफिशल ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि पैसेंजर ट्रेन में ब्लास्ट करना सिर्फ एक ‘ट्रायल रन’ था। उन्होंने कहा कि आगे चलकर ये आतंकी देश में किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में थे और उसके लिए उन्होंने काफी तैयारी भी कर रखी थी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कहा है कि इन आतंकियों के IS से जुड़े होने के पर्याप्त सबूत पुलिस के हाथ लगे हैं। उन्होंने बताया कि यूपी के कानपुर और कन्नौज के रहने वाले ये आतंकी ट्रेन के ब्लास्ट करने के बाद लखनऊ लौटने वाले थे। शिवराज के मुताबिक इनके पास से जो विस्फोटक सामग्री मिली, वह इनके IS कनेक्शन की तस्दीक कर रही है। उन्होंने बताया, ‘इनके पास से मिले विस्फोटकों पर लिखा था ”ISIS-हम भारत में हैं’ आतंकियों ने ट्रेन में रखे गए पाइप बम की तस्वीर लेकर सीरिया भेजी थी। यह इस बात का सबूत है कि वे ISIS से जुड़े थे।’

Loading...

मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि इन आतंकियों ने बम बनाने का तरीका इंटरनेट से सीखा था। शिवराज ने कहा, ‘उन्होंने ट्रेन में बम को कुछ इस तरह से रखा था कि वह दो घंटे में फट जाए। सौभाग्य से पाइप बम को अपर बर्थ में रखा गया था जिससे नुकसान कम हुआ। एमपी ATS केंद्रीय एजेंसियों के लगातार संपर्क में थी और इन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया। मास्टरमाइंड आतिफ मजफ्फर सहित वहीं मोहम्मद दानिश और सैयद मीर हुसैन को भी पकड़ लिया गया।’

इस बीच लखनऊ के ठाकुरगंज में आतंकी सैफुल्लाह को ढेर किए जाने के बाद उस मकान से आतंकियों का काफी सामान मिला है। यहां कई पिस्टल, रिवॉल्वर, सैंकड़ों कारतूस और चाकू के अलावा IS का झंडा भी बरामद हुआ है। यूपी ATS के मुताबिक यह IS का खुरासान मॉड्यूल था जिसके मंसूबों को नाकाम कर दिया गया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *