Breaking News

रामजस विवाद: छात्रों के प्रोटेस्ट मार्च में शामिल हुए येचुरी और राजा, ABVP ने बताया लेफ्ट का मार्च

नई दिल्ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में छात्रों की लड़ाई में अब नेताओं के साथ-साथ अभिनेता और दूसरी हस्तियां भी कूद गई हैं। लेफ्ट से जुड़े छात्र संगठनों और टीचर्स ने मंगलवार को खालसा कॉलेज से प्रोटेस्ट मार्च निकाला। इस मार्च में सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई नेता डी. राजा भी शामिल हुए। येचुरी ने बीजेपी और उससे जुड़े संगठनों पर हमला करते हुए कहा कि हमारा राष्ट्रवाद ‘हम भारतीय हैं’ पर आधारित है न कि ‘हिंदू कौन है?’ पर आधारित है। एबीवीपी पर हमला करते हुए सीपीएम महासचिव ने कहा कि वे तर्क से नहीं जीत पा रहे हैं इसलिए हिंसा का रास्ता अपना रहे हैं।

येचुरी और डी. राजा भी हुए मार्च में शामिल
सीपीआई नेता डी. राजा ने बीजेपी पर छात्रों की आवाज दबाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह इस मुद्दे को संसद में भी उठाएंगे। छात्रों के प्रोटेस्ट मार्च में जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने भी हिस्सा लिया। दोनों ने डीयू आर्ट्स फैकल्टी के सामने छात्रों को संबोधित भी किया। छात्रों ने वीसी ऑफिस को घेर रखा है। रामजस विवाद को लेकर पूरे डीयू कैंपस का माहौल गरमाया हुआ है। मंगलवार को कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन NSUI के छात्र आरएसएस से जुड़े छात्र संगठन एबीवीपी के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी भी डीयू कैंपस पहुंचे।

शरारती तत्व डीयू का माहौल खराब करना चाहते हैं: ABVP
दूसरी तरफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने खुद पर लगे आरोपों का खंडन किया है। एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक साकेत बहुगुणा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लेफ्ट से जुड़े छात्र संगठनों पर डीयू का माहौल खराब करने का आरोप लगाया है। बहुगुणा ने प्रोटेस्ट मार्च को सिर्फ वामपंथी स्टूडेंटों और टीचरों का मार्च बताते हुए कहा कि इसमें पूरे दिल्ली से वामपंथी स्टूडेंट और उनसे जुड़े टीचर शामिल हुए। एबीवीपी ने आरोप लगाया कि कुछ शरारती तत्व हिंसा और देश विरोधी नारों के जरिए दिल्ली यूनिवर्सिटी के माहौल को खराब करना चाहते हैं।

जावेद अख्तर और अनुपम खेर का भी ट्वीट
जाने-माने गीतकार और शायर जावेद अख्तर ने गुरमेहर पर टिप्पणी करने वाले केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू पर ट्वीट कर हमला बोला। अख्तर ने ट्वीट किया, ‘मुझे उसके (गुरमेहर) के बारे में नहीं मालूम लेकिन मिस्टर मंत्री मुझे मालूम है कि आपके दिमाग को कौन प्रदूषित कर रहा है। अगर एक कम पढ़ा-लिखा खिलाड़ी या पहलवान एक शहीद की बेटी को ट्रोल करे यह तो समझ में आता है लेकिन कुछ शिक्षित लोगों के साथ क्या दिक्कत है।’ दरअसल रिजिजू ने सवाल किया था कि गुरमेहर के दिमाग को कौन प्रदूषित कर रहा है। पूरे विवाद में जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर भी कूद गए हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘ असिहष्णु गैंग की वापसी हो चुकी है। चेहरे वही हैं, बस नारे बदल गए हैं।’

If a hardly literate player or a wrestler troll a pacifist daughter of a martyr its understandable but whats wrong with some educated folks

Loading...

विवाद में अरविंद केजरीवाल भी कूदे
पूरे विवाद में दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल भी कूद चुके हैं। मंगलवार को उन्होंने इस मुद्दे को लेकर दिल्ली के एलजी अनिल बैजल से मुलाकात की। एलजी से मुलाकात के बाद केजरीवाल ने बीजेपी और एबीवीपी पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा, ‘मैंने एलजी साहब को बताया कि ये पैटर्न बनता जा रहा है कि बीजेपी और एबीवीपी वाले राष्ट्रविरोधी नारे लगवाते हैं। इसके बाद उनके आदमी भाग जाते हैं और ये दूसरों को पीटते हैं। जेएनयू में भी यही हुआ। हमने मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है…नारेबाजी करने वालों की गिरफ्तारी हो। वे गिरफ्तार होंगे तो पता चल जाएगा कि वे बीजेपी वाले थे।’

देश तोड़ने की बात करेंगे तो जवाब मिलेगा: रविशंकर प्रसाद
रामजस विवाद पूरी तरह सियासी लड़ाई में तब्दील हो चुका है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूरे विवाद पर कहा, ‘बोलने की आजादी का पूरा सम्मान है, पर उसके कवच में अगर आप भारत को तोड़ने की बात करेंगे तो उसका जवाब दिया जाएगा।’

क्या है विवाद?
लेफ्ट से जुड़े छात्र संगठनों का आरोप है कि एबीवीपी से जुड़े छात्रों ने 20-21 फरवरी को उनके साथ मारपीट की और कुछ प्रफेसर्स की भी बेरहमी से पिटाई की। दूसरी तरफ एबीवीपी का आरोप है कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर डीयू में कश्मीर की आजादी के नारे लगाए गए। पूरा मामला तब गरम हो गया जब शहीद सैन्य अफसर की बेटी और डीयू छात्रा गुरमेहर कौर ने एबीवीपी के खिलाफ ऑनलाइन कैंपेन शुरू कर दिया। इसके बाद उन्हें रेप तक की धमकियां मिली है जिसकी उन्होंने दिल्ली महिला आयोग में शिकायत की है। हालांकि अब कौर अपने कैंपन से पीछे हट चुकी हैं। सोमवार को एबीवीपी से जुड़े छात्रों ने तिरंगा मार्च निकाला था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *