Thursday , June 24 2021
Breaking News

डोनल्ड ट्रंप को करारा झटका… नौसेना के लिये नॉमिनेट मंत्री ने साथ काम करने से किया इंकार !

वॉशिंगटन। अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप का विवादों और मुश्किलों से नाता खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। मुस्लिम बैन पर अदालत से झटका खा चुके ट्रंप को अपने ही प्रशासन से एक के बाद एक मंत्रियों के इस्तीफों का सामना करना पड़ रहा है जिससे उनकी कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठने लगे हैं। ट्रंप के प्रशासन में नेवी मिनिस्टर के लिए नॉमिनेट फिलिप बिल्डेन ने इस्तीफा दे दिया है। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि बिल्डेन ने ये फैसला बिजनेस के दबाव के चलते लिया। आपको बताते चलें कि इससे पहले आर्मी मिनिस्टर के तौर पर नॉमिनेट विन्सेंट वायोला और लेबर मिनिस्टर नॉमिनेट एंडी पुजडर भी इस्तीफा दे चुके हैं।

आपको बताते चलें कि अमेरिका में मंत्रियों के चयन की एक तय प्रक्रिया है जिसके तहतसरकार किसी व्यक्ति को मंत्री पद के लिए नॉमिनेट करती है, जिसे बाद में सीनेट मंजूरी देती है। अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस के मुताबिक बिल्डेन ने उन्हें नेवी मिनिस्टर की पोस्ट छोड़ने की जानकारी दी है। ये फैसला उन्होंने कुछ निजी कारणों से लिया है। उन्हें बिजनेस में कुछ परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा कि बिल्डेन को नेवी मिनिस्टर के लिए नॉमिनेट किया गया था, उनके इस्तीफे से वो निराश हुए हैं, हालंकि उन्होंने कहा कि वो उनके फैसले का सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि उम्मीद करता हूं कि वे देश को दूसरे तरीके से सपोर्ट करते रहेंगे।

अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस अब नेवी मिनिस्टर की पोस्ट के लिए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को नए नाम की सलाह देंगे। उन्होंने कहा कि हम कोशिश करेंगे कि जो नया शख्स आए, वो नेवी और मरीन कॉर्प्स में ट्रम्प के विजन को साकार कर सके। उधर फिलिपबिल्डेन ने कहा वो ट्रम्प को शुक्रिया कहना चाहते हैं कि उन्होंने उन्हें मरीन्स फोर्स के लिए भरोसा किया, लेकिन मैं ये भी कहना चाहता हूं कि अपने बिजनेस पर असर पड़ने के चलते मैं सही तरीके से अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा सकता। ट्रंप प्रशासन के लिए राहत की बात ये है कि फिलिप बिल्डेन की तरफ से किसी तरह की कोई शिकायत नहीं की गई है जिससे कि ट्रंप के रवैये पर सवाल उठे, हालांकि अब तक तीन इस्तीफे हो चुके हैं, इसीलिए अटकलबाजियों का दौर जारी है।

Loading...

दरअसल ट्रप का जैसा व्यक्तित्व है उसमें उन्हें काफी जिद्दी बताया जाता है। ट्रंप अपने फैसलों को लेकर अड़े रहते हैं, संभव है ये उनके साथ काम करने वालों को पसंद नहीं आता हो। बताते चलें कि इससे पहले आर्मी मिनिस्टर के नॉमिनेट विन्सेंट वायोला और लेबर मिनिस्टर नॉमिनेट एंडी पुजडर ने भी इस्तीफा दे दिया था। रूस से संबंध बढ़ाने के आरोपों पर नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर माइकल फ्लिन को इस्तीफा देना पड़ा था। आरोप था कि अमेरिकी राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण से पहले फ्लिन ने रूस के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों पर रूसी राजदूत के साथ चर्चा की थी। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव के दौरान ट्रम्प के शुरआती समर्थकों में शामिल फ्लिन महज तीन सप्ताह तक ही शीर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद पर रहे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *