Saturday , March 6 2021
Breaking News

बीएमसी में बढ़त की ओर शिवसेना-जश्न शुरू, बीजेपी पीछे, निरूपम ने इस्तीफा दिया

मुंबई। आज फैसला होगा कि मुंबई किसकी होगी. सुबह 10 बजे से वोटों की गिनती शुरू हो गई है. शिवसेना और बीजेपी ने ये चुनाव अलग-अलग लड़ा है. ऐसे में दोनों पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं. शुरूआती रुझानों के मुताबिक, शिवसेना बीजेपी को कड़ी टक्कर दे रही है. मुंबई और ठाणे में शिवसेना आगे है तो नागपुर और नासिक में बीजेपी ने बढ़त बना रखी है. वहीं, राज ठाकरे की पार्टी मनसे ने खराब प्रदर्शन किया है.

227 सदस्यीय बीएमसी चुनाव के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था. मुंबई के अलावा नौ अन्य महानगरपालिकाओं में भी चुनाव हुए थे. इस चुनाव में बीजेपी-शिवसेना के अलावा कांग्रेस और मनसे के लिए भी अपनी नाक बचाने का मौका है.

LIVE UPDATES

  • कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. संजय निरूपम ने पार्टी के अंदर गुटबाजी का भी आरोप लगाया है.

 

  • सोलापुर में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने पांच सीटें जीत ली हैं.
  • बीजेपी सांसद किरीट सोमैया के बेटे नील सोमैया चुनाव जीते. मुलुंड इलाके के सभी 6 सीटों पर बीजेपी की जीत हुई है.

 

  • महाराष्ट्र में 200 सीटों का रूझान आया. मुंबई में शिवसेना 93 और बीजेपी 61, कांग्रेस 22, एनसीपी 6 और मनसे 10 सीट पर आगे है. मुंबई में शिवसेना बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.
  • मुंबई में गुजराती बहुल 42 सीटों में से 25 पर बीजेपी आगे है.
  • ठाणे में शिवसेना 28 सीटों पर और बीजेपी 11 सीट पर आगे चल रही है. वहीं एमएनएस 4 और एनसीपी 5 सीट पर आगे है. शिवसेना यहां मुंबई से भी ज्यादा मजबूत मानी जाती है.
  • नागपुर में बीजेपी 44 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं कांग्रेस 10 सीटों पर आगे चल रही है.
  • नासिक में बीजेपी 22 सीटों पर, शिवसेना 13सीटों पर, कांग्रेस को चार एनसीपी और कांग्रेस को दो-दो सीट और मनसे को एक पर बढ़त हासिल हुई.
  • पुणे में बीजेपी को भारी बढ़त, 52 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं शिवसेना 9, एनसीपी 25 और कांग्रेस 11 सीट पर आगे चल रही है.
  • अमरावती में बीजेपी 17 सीटों पर जबकि कांग्रेस 4 सीट पर आगे है. वहीं शिवसेना को दो सीट मिली हैं.
  • चिंचड़ी पिंपवाड़ में शिवसेना 6, बीजेपी 19 और एनसीपी 15 सीटों पर आगे है.
  • उल्हासनगर में शिवसेना 15 सीटों पर, बीजेपी 21, कांग्रेस 1 और मनसे भी चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.
  • दादर की 6 सीटों पर शिवसेना आगे चल रही है.
  • सोलापुर में शिवसेना 20, बीजेपी 24 और कांग्रेस 6 सीटों पर और एनसीपी 4 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.
  • अकोला में बीजेपी 20 सीटों पर, कांग्रेस 9 सीटों पर और एनसीपी 3 सीट पर आगे है. वहीं शिवसेना को एक सीट पर बढ़त मिली है.

क्यों अहम है बीएमसी चुनाव

Loading...
  • मुंबई की बीएमसी देश की सबसे अमीर यानी सबसे ज्यादा बजट वाली महानगरपालिका है, इसका बजट 37 हजार करोड़ रुपये है.
  • 20 साल से बीएमसी पर शिवसेना-बीजेपी गठबंधन का कब्जा था.
  • इस बार गठबंधन टूट गया है और शिवसेना-बीजेपी अलग अलग चुनाव लड़ रही है.
  • बीएमसी चुनाव के लिए 91 लाख 80 हजार वोटर हैं. इस बार 55 फीसद वोटिंग हुई है यानी की करीब 50 लाख 50 हजार लोगों ने वोट किया है.
  • मुंबई में सड़क, पानी और स्कूल बीएमसी के अंदर ही आते हैं.

शिवसेना के लिए BMC चुनाव अहम क्यों ?

शिवसेना के लिए महाराष्ट्र में अस्तित्व की लड़ाई है. इस चुनाव में शिवसेना के हारने का मतलब है महाराष्ट्र की राजनीति में उसकी सबसे बड़ी हार. हारे तो महाराष्ट्र में शिवसेना का दबदबा कम होगा. वहीं, महाराष्ट्र में बीजेपी से खुद को बड़ा दिखाने का आखिरी मौका है.

BJP के लिए BMC चुनाव अहम क्यों ?

नोटबंदी के बाद मुंबई के लोग पहली बार वोट करेंगे. जीते तो नोटबंदी के फैसले को समर्थन का संदेश जाएगा. जीत मिली तो शिवसेना पर राजनीतिक बढ़त भी मिलेगी और महाराष्ट्र की नंबर वन पार्टी का दावा सही होगा.

कांग्रेस के लिए BMC चुनाव अहम क्यों ?

कांग्रेस के लिए ये चुनाव अपनी नाक बचाने का मौका है. बढ़त मिली तो राज्य की राजनीति में दबदबा बढ़ेगा. जनता बताएगी कि वो नोटबंदी के विरोध में उसके साथ है या नहीं. कांग्रेस के लिए सत्ता में वापसी के लिए ये चुनाव जीतना बेहद जरूरी है.

MNS के लिए बीएमसी BMC अहम क्यों ?

राज ठाकरे के पास पार्टी का अस्तित्व बनाए रखने का इकलौता रास्ता है. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के लिए करो या मरो की स्थिति है. सीट बढ़ीं तो महाराष्ट्र की राजनीति में राज ठाकरे का कद बढ़ेगा और अगर हार मिली तो राज ठाकरे के राजनीतिक करियर पर सवाल उठने लगेंगे.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *