Breaking News

यूपी चुनाव: अखिलेश और राहुल ने जारी किया गठबंधन का साझा अजेंडा, मोदी पर पलटवार

लखनऊ। एक तरफ पश्चिमी यूपी में पहले चरण का मतदान चल रहा है, दूसरी ओर राजधानी लखनऊ में शनिवार को सीएम अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन का 10 सूत्रीय अजेंडा पेश किया। इस दौरान दोनों नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार किया। राहुल ने जहां मोदी के गूगल और रेनकोट वाले बयान पर तीखा कटाक्ष किया, वहीं अखिलेश ने कहा कि दो युवाओं के साथ आने से घबराए मोदी अब कुनबे की बात कर रहे हैं। अखिलेश और राहुल ने जोर देकर कहा कि गठबंधन में जिन 6-7 सीटों को लेकर विवाद है, उसे जल्द सुलझा लिया जाएगा।

अखिलेश और राहुल की ओर से पेश किए गए साझा अजेंडे में विकास के ऐसे दस वादों का जिक्र है जिन्हें सरकार बनने पर अमल में लाया जाएगा। इनमें युवाओं, किसानों और महिलाओं सहित लगभग हर वर्ग को साधने की कोशिश की गई है। 10 वादों में युवाओं को स्मार्टफोन देने से लेकर महिलाओं को नौकरी और स्थानीय निकायों में आरक्षण का वादा भी शामिल है। साझा अजेंडे पेश करने के दौरान अखिलेश और राहुल ने शुक्रवार को बिजनौर रैली में पीएम मोदी द्वारा गठबंधन पर किए गए हमलों का जवाब दिया।

पीएम के जन्मपत्री वाले बयान पर अखिलेश ने कहा, ‘आजकल इंटरनेट पर सबकी जन्मपत्री उपलब्ध है, वह देख लें। वह मन की बात करते हैं, काम की बात नहीं करते।’ एसपी-कांग्रेस गठबंधन को कुनबों का गठबंधन बताने को लेकर भी अखिलेश ने पीएम पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा, ‘दो युवाओं के साथ आने से वह घबरा रहे हैं, अब कुनबों की बात कर रहे हैं। बहुत गुस्सा होना अच्छी बात नहीं है, इससे पता चलता है कि उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसक रही है।’

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने भी पीएम मोदी पर हमला बोला। गूगल और रेलकोट वाले बयान के लिए मोदी को आड़े हाथों लेते हुए राहुल ने कहा, ‘पीएम को सिर्फ गूगल पर सर्च करना अच्छा लगता है और लोगों के बाथरूम में झांकना अच्छा लगता है।’ इसके अलावा उन्होंने नोटबंदी, कालाधन, 15 लाख के वादे सहित कई मुद्दों पर पीएम को घेरते हुए कहा कि पिछले ढाई सालों में मोदी हर मोर्चे पर शत-प्रतिशत फेल हुए हैं।

Loading...

इमाम बुखारी द्वारा बीएसपी का समर्थन किए जाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा, ‘इमाम बुखारी की नाराजगी व्यक्तिगत है। उनसे अकेले में पूछिए, वह हमें ही आशीर्वाद देंगे।’ अखिलेश ने मायावती पर भी यह कहकर निशाना साधा कि पत्थरों वाली सरकार विकास की बात कर रही है। चुनाव के बाद बीएसपी और बीजेपी के गठबंधन की संभावनाओं को लेकर भी अखिलेश ने तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘तस्वीरें पुरानी हो गई हैं, पर लोगों को याद होगा कि रक्षा बंधन कैसे मना था।’ उनका इशारा बीजेपी नेता लालजी टंडन की ओर था जिन्हें बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने राखी बांधी थी।

इसके अलावा गठबंधन में 6-7 सीटों को लेकर चल रहे विवाद पर राहुल ने कहा कि हर गठबंधन में ऐसी बातें होती हैं, उसे सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 99 प्रतिशत सीटों पर गठबंधन पूरी ताकत से लड़ रहा है।

एसपी-कांग्रेस गठबंधन के 10 सूत्रीय अजेंडे के बिंदु:
1. युवाओं को फ्री स्मार्टफोन और 20 लाख युवाओं को कौशल व रोजगार।
2. किसानों को कर्ज से माफी, सस्ती बिजली और फसलों के उचित दाम।
3. 1 करोड़ गरीब परिवारों को 1000 मासिक पेंशन और शहरी गरीबों को 10 दिन का भोजन।
4. महिलाओं को नौकरी में 33 फीसदी आरक्षण, स्थानीय चुनावों में 50 फीसदी आरक्षण।
5. हर गाँव में बिजली, पानी और सड़क।
6. कक्षा 9 से 12 तक की छात्राओं को मुफ्त साइकल।
7. दलित और पिछड़े वर्ग के 10 लाख परिवारों को मुफ्त आवास।
8. हर जिला मुख्यालय को 4 लेन से जोड़ा जाएगा।
9. हर योजना में जनसंख्या के आधार पर पिछड़े व अल्पसंख्यकों को हिस्सेदारी।
10. पुलिस सुधार।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *