Breaking News

डॉनल्ड ट्रंप देंगे नया झटका? ग्रीन कार्ड की संख्या आधी करने के लिए विधेयक पेश

वॉशिंगटन। अमेरिका के दो शीर्ष सेनेटरों ने आव्रजन का स्तर कम करके आधा करने के लिए सेनेट में एक विधेयक पेश किया है। इसे ग्रीन कार्ड हासिल करने या अमेरिका में स्थायी निवासी बनने की इच्छा रखने वालों के सामने संभावित चुनौती समझा जा रहा है। रिपब्लिकन सेनेटर टॉम कॉटन और डेमोक्रैटिक पार्टी के सेनेटर डेविड पर्डू ने ‘रेज ऐक्ट’ पेश किया है, जिसमें हर वर्ष जारी किए जाने वाले ग्रीन कार्डों या कानूनी स्थायी निवास की मौजूदा करीब 10 लाख की संख्या को कम करके 5 लाख करने का प्रस्ताव रखा गया है।

ऐसा माना जा रहा है कि इस विधेयक को ट्रंप प्रशासन का समर्थन प्राप्त है। यदि यह विधेयक पारित हो जाता है तो इससे उन लाखों भारतीय अमेरिकियों पर बड़ा प्रभाव पड़ेगा जो ग्रीन कार्ड मिलने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि मौजूदा समय में किसी भारतीय को ग्रीन कार्ड हासिल करने के लिए 10 से 35 साल इंतजार करना पड़ता है और यदि प्रस्तावित विधेयक कानून बन जाता है तो यह अवधि बढ़ सकती है।

इस विधेयक में एच-1बी वीजा पर ध्यान केंद्रित नहीं किया गया है। कॉटन ने कहा, ‘अब समय आ गया है कि हमारी आव्रजन प्रणाली अमेरिकी कर्मियों के लिए काम करना शुरू करे। रेज ऐक्ट उच्च वेतनों को प्रोत्साहित करेगा जिसके आधार पर सभी कामकाजी अमेरिकी भविष्य का निर्माण कर सकते हैं।’ वर्ष 2015 में 1,051,031 प्रवासी यहां आए थे। इस विधेयक के पारित होने से पहले साल में प्रवासियों की कुल संख्या कम होकर 6,37,960 रह जाएगी और 10वें साल में यह 5,39,958 हो जाएगी।

Loading...

पर्डू ने कहा, ‘हम हमारी कानूनी आव्रजन प्रणाली में व्याप्त कुछ कमियों को दूर करने के लिए कदम उठा रहे है।’ उन्होंने कहा, ‘कानूनी आव्रजन के हमारे ऐतिहासिक रूप से सामान्य स्तरों पर वापस पहुंचने से अमेरिकी नौकरियों और वेतनों की गुणवत्ता के सुधार में मदद मिलेगी।’ ‘रेज ऐक्ट’ अमेरिकी नागरिकों और वैध स्थायी निवासियों के पति या पत्नी और नाबालिग बच्चों के लिए आव्रजन प्राथमिकताओं को बरकरार रखेगा। जबकि विस्तारित परिवार और परिवार के व्यस्क सदस्यों के कुछ वर्गों के लिए प्राथमिकताएं हटा दी जाएंगी।

इसमें विविधता वीजा लॉटरी को भी समाप्त करने का प्रस्ताव रखा गया है। इसमें कहा गया है, ‘डाइवर्सिटी लॉटरी में धोखाधड़ी होती है, इससे कोई आर्थिक या मानवीय हित पूरा नहीं होता। रेज ऐक्ट इस लॉटरी को मनमाने ढंग से दिए गए 50,000 वीजा समाप्त कर देगा।’ इस विधेयक में शरणार्थियों के लिए स्थायी निवास पर जिम्मेदाराना सीमा तय करने का प्रस्ताव पेश किया गया है। रेज ऐक्ट स्थायी निवास पाने वाले शरणार्थिायों की संख्या को प्रति वर्ष 50,000 तक सीमित करेगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *