Breaking News

मेरठ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले – ये चुनाव ‘SCAM’ के खिलाफ भाजपा की लड़ाई है

नई दिल्ली/मेरठ। यूपी मेें विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मेरठ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली को संबोधित किया. रैली में पीएम मोदी ने कहा कि यहां के लोगों को रोजगार के लिए अपना घर छोड़कर जाना पड़ता है. उन्होंने कहा कि यूपी के लोगों ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया. उन्होंने कहा कि पिछले ढाई साल में बतौर पीएम कोई ऐसा काम नहीं किया जिससे देश का नाम खराब हो. उन्होंने कहा कि अब गुंडा राज से मुक्ति के लिए लड़ाई जरूरी है. उन्होंने कहा कि यूपी के लिए मुझे बहुत कुछ करना है. उन्होंने कहा कि मैं जितना भी अच्छा करना चाहूं, लेकिन अगर यहां रुकावट करने वाली सरकार बैठी रहीं तो लखनऊ में लाभ अटक जाएगा. जिन लोगों ने अभी तक यूपी का भला नहीं होने दिया, वहां फिर अटक जाएगा.

पीएम मोदी ने कहा कि यहां पर कानून व्यवस्था पूरी तरह खराब है. यहां पर गुंडागर्दी राजनीतिक आश्रय से पली है. यहां से गुंडागर्दी समाप्त करना है. यहां पर लोगों को सुरक्षा नहीं है. घर ने निकलने के बाद वापसी पर संशय रहता है. ऐसी सरकार को हटाना है.

पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर हमला करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले तक कांग्रेस को राज्य सरकार से बड़ी दिक्कतें थी लेकिन अब सब बदल गया है. उन्होंने कहा कि राजनीति में गठबंधन बहुत देखें हैं. लेकिन जब पिछले कुछ दशकों से जो दल एक दूसरों को कोसने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे अब वे एक दूसरे के गले लग गए हैं. उन्होंने कहा कि जो खुद के बचा नहीं सकते वे उत्तर प्रदेश  को क्या बचाएंगे. उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि जब देश ने ही नकार दिया है, तब यूपी में कैसे बचेंगे. इनका यूपी के भाग्य से कोई लेना देना नही हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि ये चुनाव स्कैम के खिलाफ भाजपा की लड़ाई है. घोटालों से लड़ाई है. स्कैम (SCAM) समाजवादी, कांग्रेस, अखिलेश और मायावती. उन्होंने कहा कि यूपी तय करे कि आपको स्कैम चाहिए या कमल चाहिए. आपको स्कैम चाहिए या यूपी का विकास चाहिए. आपको स्कैम चाहिए या रोजगार…

पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा की लड़ाई इस स्कैम के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि जब राज्य को स्कैम से मुक्ति नहीं मिलेगी तब तक राज्य में सुख चैन के दिन नहीं आएंगे. उन्होंने कहा कि दिल्ली से मैं यूपी की कितनी भी मदद करना चाहूं, लेकिन अगर राज्य सरकार का इरादा नहीं होगा तो कुछ नहीं होगा.

पीएम मोदी ने कहा कि दो महीने पहले सपा के नेता कह रहे थे फलां गुंडागर्दी करता है, फलां खनन माफिया है. ऐसे लोगों को समाजवादी पार्टी ने खुद टिकट दिए हैं. इन लोगों के इरादे नेक नहीं है. पीएम मोदी ने कहा कि गरीबों को बीमारी में सरकार की तरफ से मदद मिले, इसके लिए 4000 करोड़ रुपया यूपी सरकार को केंद्र ने दिया. उन्होंने कहा कि 2014-15 में 4000 करोड़ में से 2500 करोड़ भी राज्य सरकार खर्च नहीं कर पाई और हिसाब देने से बच रही है. 2015-16 में भी ऐसा ही हाल रहा है. अब 7000 करोड़ रुपये में से भी 2800 करोड़ रुपये गरीबों के हित में खर्च नहीं कर पाए.

यह कौन सी राजनीति है कि गरीबों की दवाई के लिए दिया गया यह पैसा खर्च नहीं हुआ. यहां पर भी वोटबैंक की राजनीति की गई.उन्होंने कहा कि बीमार की कोई जाति नहीं होती. बीमारी में भी यूपी की वर्तमान सरकार ने लोगों की मदद नहीं की. यहां हर चीज वोट बैंक के तराजू से तौला जा रहा है. ये विकास में रुकावट बने हुए हैं.

पीएम मोदी ने मेरठ की रैली को संबोधित करतेे हुए कहा कि पाई-पाई का हिसाब देना है इसलिए राज्य सरकार पैसे खर्च नहीं कर रही है. यह जनता के साथ धोखा है. लोगों को राहत में यह सरकार रुकावट है. उन्होंने कहा कि स्वच्छता के काम के लिए भी राज्य सरकार सुस्त है. उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने सफाई अभियान के लिए यूपी को 950 करोड़ रुपया दिया, लेकिन इसका भी प्रयोग नहीं हुआ.

Loading...

यहां पर परिवार की ही राजनीति हो रही है. दिल्ली सरकार यूपी का जीवन बदलने के लिए सबकुछ करने को तैयार है. यहां पर यूपी का भाग्य बदलना है तो सबसे पहले यहां की सरकार बदलो, भाग्य अपने आप बदल जाएगा.

हर परिवार का अपना घर होना चाहिए. आजादी के इतने सालों बाद सभी लोगों का अपना घर होना चाहिए. 2022 तक हर परिवार के लिए एक घऱ की व्यवस्था केंद्र करने की योजना बना रही है. उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य सरकारों से कहा गया. यूपी सरकार से लाभार्थियों की सूची मांगी गई, लेकिन महीनों तक राज्य सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया. हार कर भारत सरकार ने गांव के कम्युनिटी सेंटरों के युवाओं से अर्जियां मांगने का काम किया. तब राज्य सरकार जागी और फिर सूची भेजने के लिए काम शुरू किया.

गन्ना किसानों पर पीएम मोदी ने कहा कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनते ही सबसे पहला काम लघु किसानों के कर्ज को माफ करने का वादा किया गया है. यह पूरा होगा, मैं दिल्ली से इस बात को देखूंगा. उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का भुगतान समय पर नहीं होता है. गन्ना के समय पर भुगतान की व्यवस्था की जाएगी. यह समय 14 दिन तय किया गया है. पीए मोदी ने कहा कि अगर इरादे नेक हों तो काम पूरा किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि 2014 के चुनाव में मैंने वादा किया था कि गन्ना किसानों के बकाए को माफ किया जाएगा. केंद्र सरकार ने 22000  करोड़ रुपये भुगतान करने का काम किया और किसी बिचौलिए को बीच में आने नहीं दिया. सीधे गन्ना किसानों के खातों में पैसा जमा करवाया. उन्होंने कहा कि क्यों हमारे आने से पहले गन्ना का बकाया था. उस कोई काम पहले की सरकारों ने क्यों नहीं किया.

उन्होंने कहा कि आखिर क्यों चीनी मिलों ने किसानों का पैसा भुगतान नहीं किया. सरकार की सांठ-गांठ है, ऐसी सरकार को हटा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की उपज का 60 प्रतिशत लेने का काम करती है जबकि राज्य सरकार केवल 3 प्रतिशत ही लेती है और बाकी किसान को किस्मत के भरोसे छोड़ दिया जाता है.

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में जो लोग हंग एसेंबली की बांट जो रहे थे उन्हें बड़ा धक्का लगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने वन रैंक वन पेंशन पर फौजियों को धोखा दिया. उन्होंने कहा कि 40 साल तक फौजियों को धोखा दिया गया. हमने अपना वादा पूरा किया.

सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि फौजियों से बात की और आतंकवाद को जवाब दिया. उन्होंने कहा कि देश की सेना दुर्बल नहीं है. वह पराक्रम दिखा सकती है. पाकिस्तान में घुसकर हिसाब लिया गया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *