Breaking News

संबित पात्रा ने दिखाए माल्या पर ‘कांग्रेसी कृपा’ के सबूत !

बीजेपी ने मीडिया को दिखाईं मनमोहन सिंह और चिदंबरम को लिखीं माल्या की चिट्ठियां

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार बनने के बाद से कांग्रेस लगातार उस पर सूट बूट की सरकार का आरोप लगा रही है। विजय माल्या बैंकों का हजारों करोड़ रूपये कर्ज लेकर भारत से फरार हो गए। इसको लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार को जमकर घेरा। नोटबंदी के बाद भी राहुल ने सरकार पर हमला किया कि उसने माल्या को 1200 करोड़ की टॉफी दी है। फिलहाल अब नए खुलासे हो रहे हैं। विजय माल्या की मनमोहन सिंह को लिखी चिट्ठियों से जो खुलासे हो रहे हैं वो कांग्रेस के लिए किसी बम से कम नहीं है। इसके बाद राहुल के हमलों पर सवाल खड़ा होने लगा है। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि जब यूपीए सरकार के दौरान कांग्रेस ने माल्या की मदद की थी तो राहुल किस आधार पर वर्तमान सरकार पर हमला कर रहे हैं।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने निजय माल्या को लेकर कांग्रेस पर जोरदार हमला किया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पात्रा ने विजय माल्या के साथ मनमोहन सिंह और तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बीच हुए पत्राचार को लेकर कांग्रेस को घेरा। संबित पात्रा ने चिट्ठियों को सार्वजनिक करते हुए कहा कि कांग्रेस ने किंगफिशर की मदद की थी। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस जो खुद एक ड़ूबता हुआ जहाज है उसने एक डूबती हुई एयरलाइन की मदद की थी। पात्रा ने कहा कि विजय माल्या ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की थी। जिसके बाद उन्होंने माल्या को टॉप ब्यूरोक्रेट्स से बात करने के लिए कहा था। बीजेपी नेता ने कहा कि मनमोहन के कहने पर माल्या ने उनके सलाहकार टी के ए नायर से मुलाकात की थी।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विजय माल्या की मदद के लिए खुद संबंधित मंत्रालयों से बात की थी। चिट्ठियों के बारे में जानकारी देते हुए पात्रा ने कहा कि विजय माल्या ने मनमोहन सिंह और चिदंबरम को दो-दो चिट्ठियां लिखीं थी। पहली चिट्ठी माल्या ने मनमोहन सिंह को 4 अक्टूबर 2011 को लिखी थी। 22 नवंबर 2011 को माल्या ने दूसरी चिट्ठी लिखी थी। वहीं पी चिदंबरम को पहली चिट्ठी माल्या ने 21 मार्च 2013 और दूसरी चिट्ठी 22 मार्च 2013 को लिखी थी। बीजेपी के इस हमले के बाद कांग्रेस विजय माल्या के मुद्दे पर खुद घिर गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस तरह से मोदी सरकार पर माल्या की मदद करने का आरोप लगाा था अब उसकी हवा निकलती दिखाई दे रही है।

Loading...

बता दें कि राहुल गांधी लगातार नोटबंदी को विजय माल्या से जोड़कर बीजेपी पर हमला कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि पीएम मोदी ने माल्या को 1200 करोड़ की टॉफी देकर फरार होने में मदद की थी। अब कांग्रेस पर ही आरोप लग रहे हैं। इन चिट्ठियों के बाद साफ होता दिख रहा है कि माल्या को यूपीए सरकार के दौरान कितनी मदद की गई थी। उस वक्त मनमोहन सिंह ने भी कहा था कि किंगफिशर की मदद की जानी चाहिए। फिलहाल बीजेपी अब इस मुद्दे को जनता के बीच ले जाने पर विचार कर रही है। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले इस तरह का खुलासा कांग्रेस के लिए हानिकारक हो सकता है। अभी तक कांग्रेस की तरफ इस को लेकर कोई पलटवार नहीं आया है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *