Breaking News

तेजस्वी ने ‘जंगलराज’ की टिप्पणी को खारिज किया

Deputy-CMपटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ‘जंगलराज’ के आरोप को खारिज करते हुए उनसे बिहार को बदनाम न करने की अपील की। ‘जनता दरबार में मुख्यमंत्री’ में तेजस्वी ने कहा कि कुछेक घटना पर विपक्षी उसे ‘जंगलराज’ की संज्ञा देने लगते हैं पर जब आरोपी पकड़े और उन्हें सजा होती है वे कहीं दिखाई नहीं पड़ते।
उन्होंने गुड़गांव का उदाहरण देते हुए कहा कि विपक्षी पार्टी बिहार के अपराध की स्थिति पर खूब बोलते हैं पर ऐसे मामलों पर चुप्पी साध लेते हैं। यह बीजेपी शासित हरियाणा में क्या ‘मंगलराज’ का उदाहरण है। गुडगांव में पिछले गुरुवार को हथियार के बल पर लूट की एक वारदात हुई थी। तेजस्वी ने कहा कि आपराधिक आंकडों के मुताबिक बिहार अपराध के मामले में 22वें स्थान पर आता है।

उन्होंने कहा कि जो राज्य अपराध के मामले में 22वें स्थान पर है वहां अगर ‘जंगलराज’ है तो बीजेपी शासित राजस्थान, हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश जो अपराध के मामले में बिहार से आगे हैं जिनमें क्या जंगलराज नहीं है। एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान के बिहार में ‘जंगलराज’ की वापसी की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर उन्हें अभिभावक समान बताते हुए तेजस्वी ने कहा, ‘मेरे पिता (लालू प्रसाद) ने भी उनके खिलाफ बोलने से मना किया है, पर उनके साथ अन्य विपक्षी दलों के नेताओं को अपराध की एक घटना होने पर राजनीति करना छोड़ देना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि जब जनता ने हाल में संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘जंगलराज’ की टिप्पणी को नकार दिया ऐसे में उसे दोहराने का क्या औचित्य है। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि चूंकि विपक्ष को आलोचना के लिए कोई अवसर नहीं मिल पाता है, इसलिए वे नीतीश सरकार पर हर अपराधिक घटना को लेकर प्रहार करते हैं।

Loading...

तेजस्वी से बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री की तरह जनता दरबार लगाए जाने के बारे में कहा कि उनका घर सातों दिन और बारह महीने लोगों के लिए खुला रहता है, जितना होता है हम जनसमस्याओं का समाधान करने का हरसंभव प्रयास करते हैं। उन्होंने अपने भीतर कोई अहंकार नहीं होने का दावा करते हुए कहा कि बस आम लोगों की समस्याओं का निवारण होना चाहिए फिर चाहे वो सड़क पर हो, सचिवालय में हो या फिर संसद में।

तेजस्वी ने कहा कि जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी अधिकारियों के साथ जनता दरबार में उपस्थित रहते हैं तो इससे बड़ी बात क्या होगी। उन्होंने कहा कि वे लोगों के भले एवं विकास के लिए लीक से हटकर काम करना चाहते हैं। सकारात्मक कामों का समर्थन करना चाहिए। नकारात्मकता फैलाने की बजाय बिहार के विकास के लिए भाजपा को बिहार सरकार की सराहना करनी चाहिए।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *