Breaking News

कार्यकर्ताओं से मुंह की खाने के बाद ममता को एक और झटका, तसलीमा नसरीन ने दिखाई औकात

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं पर लगातार हो रहे हमलों के बीच पहली बार एक मुस्लिम महिला ने ममता सरकार पर निशाना साधा है। चर्चित लेखिका तसलीमा नसरीन ने पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की नीतियों को वाम दलों से भी खराब बताया है। तसलीमा की इस बात को ममता की नीतियों पर एक तमाचा माना जा रहा है।

तस्लीमा ने कहा है कि साल 2011 में ममता बनर्जी के सीएम बनने के बाद मुझे पश्चिम बंगाल की स्थिति सुधरने की उम्मीद थी, लेकिन अब ये बातें गलत साबित हो चुकीं हैं। ममता इस मसले पर लेफ्ट की सरकार से ज्यादा कड़ी हैं। ममता सिर्फ वोट की राजनीति करना जानती हैं।

उन्होंने कहा कि बंगाल के अन्दर वैसे तो सभी राजनीतिज्ञों का नजरिया एक जैसा है लेकिन उनकी सोच से साफ़ पता चलता है कि वह मुस्लिम कट्टरपंथियों को संतुष्ट करने में लगी हुई हैं। वह सोचती हैं कि अगर ऐसा हुआ तो उन्हें ज्यादा मत मिलेंगे। पश्चिम बंगाल में यही हो रहा है।

Loading...

अपनी बंगाल वापसी के मुद्दे पर बोलते हुए तसलीमा ने कहा कि मेरा मानना है कि मैं भी वोटबैंक की राजनीति की शिकार हूं। इससे यह भी पता चलता है कि लोकतंत्र कितना कमजोर है और राजनीतिज्ञ एक लेखक को प्रतिबंधित करके वोट जुटाते हैं।बंगलादेश की लेखिका तसलीमा नसरीन फिलहाल भारत में निर्वासित जीवन जी रही हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *