Breaking News

EC में मुलायम का नया पैंतरा, अखिलेश सीएम और मैं मार्गदर्शक हूं- सूत्र

नई दिल्ली/लखनऊ। मुलायम परिवार में झगड़े को लेकर आज का दिन बेहद अहम है. क्योंकि, आज चुनाव आयोग की अदालत में साइकिल के चुनाव चिन्ह पर सुनवाई चल रही है. अखिलेश और मुलायम खेमे के नेता चुनाव आयोग सुनवाई के लिए पहुंचे हैं. मुलायम सिंह यादव भी सुनवाई के लिए चुनाव आयोग पहुंचे हैं.

LIVE UPDATES: 

  • सूत्रों के मुताबिक चुनाव आयोग में जिरह के दौरान मुलायम गुट के वकील ने चतुराई दिखाने के लिए कहा कि मुलायम को अखिलेश गुट ने अधिवेशन के दौरान मार्गदर्शक बनाया था. इसलिए पार्टी में तो कोई टूट है ही नहीं जो भी झगड़ा है वो अंदरूनी है और प्रशासनिक मामला है. मुलायम सिंह अभी भी चुनाव आयोग में खुद को पार्टी के सबसे बड़े नेता के तौर पर ही पेश कर रहे हैं.
  • सूत्रों के हवाले से खबर है कि चुनाव आयोग के सामने मुलायम सिंह यादव के तेवर ढीले पड़े हैं. मुलायम ने चुनाव आयोग से कहा है कि अखिलेश सीएम हैं और मैं अब सिर्फ मार्गदर्शक हूं. इस पर सभी सहमत हैं. पार्टी में कोई झगड़ा नहीं है. मुलायम ने झगड़े को अंदरूनी मामला बताया है. दूसरी तरफ अखिलेश यादव गुट ने चुनाव आयोग में साइकिल चुनाव चिन्ह पर अपना दावा छोका है. अखिलेश गुट ने दलील दी है कि पार्टी में उनके पास बहुमत है.
  • लंच पर ब्रेक के बाद अब तीन बजे से दोबारा सुनवाई शुरू हो गई है
  • चुनाव आयोग पहुंचे अखिलेश खेमे के रामगोपाल यादव. साथ में किरनमय नंदा और राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल भी मौजूद है.
  • मुलायम सिंह यादव भी चुनाव आयोग पहुंच चुके हैं. थोड़ी देऱ बाद शुरू हो जाएगी सुनवाई.

अखिलेश-मुलायम ने चुनाव आयोग में दी दलील

अखिलेश गुट की ओर से ये दलील दी गई है कि ज्यादातर विधायक और सांसद अखिलेश के साथ हैं, इसलिए चुनाव चिन्ह पर अखिलेश का ही हक है. जबकि मुलायम की दलील ये है कि वो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.  पार्टी उन्होंने बनाई है इसलिए साइकिल पर पहला हक उनका है. मुलायम ने ये भी कहा है कि जिस अधिवेशन में अखिलेश को अध्यक्ष बनाया गया वो अधिवेशन ही असंवैधानिक है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *