Breaking News

अमेजन ने सुषमा को चिठ्ठी लिखकर माफी मांगी

वाशिंगटन/नई दिल्ली। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने गुरुवार को भारतीय झंडे की तरह दिखने वाले आपत्तिजनक पायदान अपनी कनाडाई वेबसाइट से हटा लिए। कंपनी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर इस मामले में खेद भी प्रकट किया है। कंपनी ने कहा कि किसी तीसरे पक्ष ने उनकी कनाडा की वेबसाइट पर इसे बेचने के लिए लिस्ट किया था।

बता दें कि इन पायदानों को बेचे जाने को लेकर गत बुधवार को भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी, जिसके बाद कंपनी ने यह कदम उठाया है। अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कंपनी से कहा था कि वह इन उत्पादों को हटाकर बिना शर्त माफी मांगे, नहीं तो अमेजन के किसी भी अधिकारी को भारतीय वीजा नहीं दिया जाएगा। साथ ही, जिन्हें पहले वीजा दे दिया गया है, उन्हें भी रद्द कर दिया जाएगा। मंत्री ने भारतीय दूतावास से भी यह मामला अमेजन कनाडा के समक्ष उठाने के लिए कहा था।

अमेजन के सिएटल स्थित मुख्यालय में कंपनी के प्रवक्ता ने द वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि पायदान अब वेबसाइट पर नहीं है। द वाशिंगटन पोस्ट ने कहा, सुषमा के टि्वटर पर लिखे जाने के कारण विरोध को एक संभावित राजनयिक विवाद के रूप में तब्दील कर दिया गया। अमेजन के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफरी पी. बेजोस द वाशिंगटन पोस्ट के भी मालिक हैं। अमेजन कनाडा ने अपनी वेबसाइट से आपत्तिजनक पायदान हटा लिया है। हालांकि, वह अमेरिका और ब्रिटेन झंडों वाले ऐसे ही पायदान बेच रहा है।

Loading...

कंपनी अतिरिक्त सावधानी बरतेगी
भारत में कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट और कंट्री मैनेजर अमित अग्रवाल ने पत्र लिखकर वेबसाइट पर भारतीय झंडे वाले पायदान बेचने पर खेद प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि किसी तीसरे पक्ष ने कंपनी की कनाडा की वेबसाइट पर इसे बेचने के लिए लिस्ट किया था। जैसे ही इस उत्पाद के बारे में जानकारी हुई, उसे तुरंत वेबसाइट से हटा लिया गया। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि आगे से ऐसी गलती नहीं होने पाए, इसके लिए अतिरिक्त सावधानी बरती जाएगी।

भारतीय परंपराओं का सम्मान
अमित अग्रवाल ने चिट्ठी में लिखा, अमेजन इंडिया भारत के कानूनों का पालन और भारतीय परंपराओं का सम्मान करता है। किसी तीसरे पक्ष द्वारा कनाडा में तिरंगे वाली पायदान बेचे जाने पर हम खेद व्यक्त कर क्षमा मांगते हैं। हमने कभी भारतीय भावनाओं को आहत नहीं किया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *