Breaking News

कुशवाहा का नायकों जैसा स्वागत

kushwahaलखनऊ। NRHM घोटाले के मुख्य आरोपी पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा डासना जेल से छूटने के दो दिन बाद रविवार को लखनऊ पहुंचे। चार साल से उनकी रिहाई का इंतजार कर रहे समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया।

शनिवार रात बाबू सिंह हरदोई में रुके थे। अस्वस्थ होने के चलते वे ऐंबुलेंस से रविवार को लखनऊ पहुंचे। लखनऊ पहुंचने के बाद बाबू सिंह का कई जगह स्वागत हुआ। बालागंज चौराहे और रूमी गेट पर उनके काफिले के चलते जाम लग गया। समर्थकों का एक काफिला परिवर्तन चौक की तरफ से और दूसरा कसमंडा अपार्टमेंट की तरफ से एक साथ हजरतगंज चौराहे पर पहुंचा। समर्थकों ने बीच चौराहे पर ही ऐंबुलेंस के चारों ओर गाजे-बाजे के साथ नारेबाजी की। इस दौरान चौराहे पर जाम लग गया। पार्क रोड पर करीब 40 मिनट आतिशबाजी चली। इस दौरान ट्रैफिक पुलिस ड्यूटी पर थी।

डीएम भी फंसे
गंज चौराहे पर जब कुशवाहा का काफिला था, उसी वक्त डीएम राजशेखर भी वहां काफिले के पीछे फंसे रहे। उन्होंने रोक-टोक नहीं की। जब कुशवाहा अपार्टमेंट में पहुंच गए, तब एसओ हजरतगंज वहां पहुंचे।

बंद कर दिया पेट्रोल पंप
गंज चौराहे के नजदीक पार्क रोड पर कसमंडा अपार्टमेंट में कुशवाहा के संगठन जन अधिकार मंच का ऑफिस है। अपार्टमेंट के बाहर उनके स्वागत में सैकड़ों गोले दागे गए। आतिशबाजी के चलते नरही पेट्रोल पंप कुछ देर के लिए बंद कर दिया गया। अपार्टमेंट के गेट पर कुशवाहा के समर्थकों ने ‘जेल का फाटक टूट गया, शेर हमारा छूट गया’ सरीखे कई नारे लगाए। नारेबाजी और आतिशबाजी का शोर सुनकर अपार्टमेंट से कुछ लोग निकले लेकिन कुशवाहा से मिलने के लिए समर्थकों में हो रही धक्का-मुक्की देख वापस हो गए।

Loading...

कुशवाहा की रिहाई पर बीजेपी के विजय बहादुर पाठक ने कहा, ‘सत्ता से रिश्ते हैं तो सब जायज है। पत्नी अगर सत्तारूढ़ दल से उम्मीदवार रही तो फिर क्या कहने? इन रिश्तों का प्रकटीकरण गंज में हुआ है।’ वहीं बीएसपी ने इस पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *