Breaking News

सदन में मायावती के बाजू में रामगोपाल को न बैठने दिया जाये: मुलायम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सैफई में पारिवारिक कलह चरम पर है। समाजवादी पार्टी अखिलेश और मुलायम दो खेमों में बंटने को तैयार है। मुलायम सिंह यादव अखिलेश से कोई विवाद न होने की बात कहते हैं। मुलायम सिंह अपने परिवार में कलह की मुख्य वजह अपने चचेरे भाई रामगोपाल यादव को मानते हैं। मुलायम सिंह यादव को रामगोपाल यादव से किस कदर खफा हैं, इसकी बानगी सोमवार देखने को मिली। उन्होंने उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी को पत्र लिखकर रामगोपाल यादव की सीट बदलवाने का आग्रह किया है। उनका कहना है कि अगली सीट पर मायावती के पास न बैठने दिया जाए।
सोमवार को मुलायम सिंह यादव ने हामिद अंसारी को पत्कर लिखकर कहा कि अब रामगोपाल यादव को समाजवादी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। ऐसे में उन्हें आगे से हटाकर सदन में पिछली सीट पर जगह दी जाए। गौरतलब है कि अभी तक रामगोपाल यादव सदन में आगे की कतार में बसपा सुप्रीमो मायावती के पास बैठते रहे हैं।
राज्यसभा के सभापति को मुलायम सिंह यादव का पत्र मिला है जिसमें रामगोपाल यादव को सपा से निष्कासित किए जाने की बात कही गई है। यह जानकारी राज्ससभा के सभापति हामिद अंसारी के ओएसडी गुरदीप सिंह सप्पल ने ट्वीट कर दी।
नई दिल्ली में चुनाव आयोग से मुलाकात के दौरान मुलायम सिंह यादव ने कहा कि पार्टी में जरूर थोड़े बहुत मतभेद हैं, लेकिन बेटे अखिलेश के साथ कोई विवाद नहीं हैं। पूरे विवाद की जड़ एक-दो लोग हैं जिन्होंने हमारे लड़के को बहका दिया है। मैं जाते ही ठीक कर दूंगा।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *