Thursday , December 3 2020
Breaking News

मिशन यूपी: बीजेपी की ‘सोशल इंजीनियरिंग’ तेज, चरवाहों को साधा

pd logलखनऊ/वाराणसी। यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी ने सोशल इंजिनियरिंग फॉर्म्यूला पर काम तेज कर दिया है। ‘दिव्यांगों’ को लुभाने के बाद रविदास जयंती पर दलितों में पैठ बनाने से पहले रविवार को बनारस में हुए सम्मेलन में पूर्वांचल के चरवाहों को साधा गया। इस सम्मेलन के जरिए पार्टी ने पिछड़ों की सबसे बड़ी हितैषी होने का संदेश भी दिया।

नगर निगम प्रेक्षागृह में अखिल भारतीय चरवाहा कल्याण संघ के बैनर तले हुए सम्मेलन में पूर्वांचल के चरवाहा समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में शिरकत की। सम्मेलन का आयोजन तो एकजुटता के नाम पर किया गया था पर इसमें बीजेपी ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एस.पी. सिंह बघेल की मौजूदगी खास रही।

उन्होंने चरवाहों से एक होने और वोट के लिए बरगलाने वाली पार्टियों से सचेत रहने को कहा। उन्होंने कहा कि बीजेपी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो सभी को साथ लेकर चलती है और विकास को बढ़ावा देने वाली है।

चरवाहा कल्याण संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आर.डी. पाल ने किसी पार्टी का बिना नाम लिए सपा और बसपा पर जमकर निशाना साधा। कहा कि चुनाव के समय अपने होने का एहसास कराने वाले नेताओं ने रवहों को छला है। वोट लिया, दिया कुछ नहीं। पाल-गड़ेरिया समाज के लोग बहिष्कृत कर दिए गए। दूसरी बिरादरी की तरह एकजुट होकर चलने पर राजनीति और सत्ता में भागीदारी की दौड़ में शामिल हुआ जा सकता है। इसके लिए सूबे के हर इलाके में सम्मेलन कर अलख जगाई जाएगी।

Loading...

पीएम नरेन्द्र मोदी और बीजेपी टीम की संत रविदास जयंती के जरिए यूपी और पंजाब, दोनों को साधने की तैयारी है। रविदास जयंती पर पंजाब के दलित समुदाय से लेकर अन्य वर्ग का बनारस में जमावड़ा होता है। ऐसे में दलित वोट बैंक को अपनी झोली में लाने के लिए अम्बेडकर के बाद अब संत रविदास का सहारा बने है।

बीजेपी संगठन ने जो खाका तैयार किया है उसके मुताबिक जयंती से पहले कार्यकर्ताओं की टीम झाड़ू लेकर दलित बस्तियों को चमकाने उतरेगी। भीमराव अंबेडकर की मूर्तियों की साफ-सफाई का अभियान भी चलेगा। दलित बस्तियों में चाय पिलाकर मोदी के मन की बात सुनाने के साथ ही बुकलेट बांट सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *