Breaking News

साक्षी महाराज के ‘4 बीवी-40 बच्चे’ वाले बयान पर चुनाव आयोग सख्त, दर्ज हुई FIR

मेरठ। शुक्रवार को संत समागम में एक संप्रदाय विशेष के लोगों के खिलाफ टिप्पणी करना उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज को महंगा पड़ गया। चुनाव आयोग के दखल के बाद शनिवार को आनन-फानन में साक्षी महाराज और आयोजक धर्म दास के खिलाफ थाना सदर बाजार में एफआईआर दर्ज करा दी गई। साक्षी महाराज पर आचार संहिता के उल्लंघन और धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया गया है।

एसएसपी जे रविन्द्र गौड़ ने बताया कि साक्षी महाराज और धर्म दास के विरूद्ध धारा 188, 295ए, 298, 505(3), 153बी और 171एस के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।

बता दें कि शुक्रवार को भाजपा के सांसद साक्षी महाराज सदर स्थित जैन विवाह मंडप में आयोजित संत समागम में मुख्य अतिथि के रूप में आए थे। अपने भाषण के दौरान उन्होंने एक संप्रदाय विशेष की ओर इशारा करते हुए विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि देश में बढ़ती जनसंख्या के लिए हिंदू जिम्मेदार नहीं है। इसके लिए 4 बीवियां और 40 बच्चे रखने वाले लोग जिम्मेदार हैं। हमारे देश को ऐसे लोग मंजूर नहीं हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि तीन तलाक के नाम पर मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न नहीं होने देंगे। इसे समाप्त करने का समय आ गया है।

साक्षी महराज के संत समागम मे पहंचने की सूचना पर एक सिपाही वहां पहुंचा था और उसने अपने अधिकारियों से मिले निर्देश के अनुसार, अपने मोबाइल से वहां का विडियो बनाना शुरू कर दिया था। इसको लेकर मंच पर बैठे कार्यक्रम के आयोजक संत महेन्द्र दास महाराज नाराज हो गए। उन्होंने मंच से चिल्लाते हुए सिपाही को वहां से बाहर चले जाने की चेतावनी दी। इसका कुछ संतों ने विरोध किया, लेकिन सिपाही वहां से चला गया।

Loading...

इस मामले का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने डीएम बी चंद्रकला से इसपर अपनी रिपोर्ट देने को कहा। चुनाव आयोग के दखल से जिला प्रशासन सक्रिय हुआ। आयोजकों से संत समागम की विडियो क्लिपिंग लेकर उसकी जांच की गई।

एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि मुकदमा आचार संहिता के उल्लंघन एवं धार्मिक भवनाएं भड़काने के आरोप में दर्ज कराया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने संत समागम की विडियो क्लिप भी साक्ष्य के रूप में अपने कब्जे में ले ली है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *