Breaking News

सपा की लड़ाई और समर्थकों में आक्रोश देख राम नाईक ने दिया बयान

लखनऊ। हाल ही के कुछ दिनों से सपा में चल रहे घमासान से प्रदेश ही नहीं पूरा देश स्तब्ध हैं। प्रदेश में साफ तौर पर देखा जा रहा है कि पार्टी दो फाड़ हो गई है जिससे जगह-जगह अखिलेश, मुलायम समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाईक का बड़ा बयान आया है। प्रदेश में मौजूदा हालातों को देखते हुए राम नाईक ने कहा है कि अगर विधायक विद्रोह करेंगे तब मैं अहम भूमिका अदा करूंगा। उन्होंने आगे कहा कि पार्टी के अंदरूनी मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं हैं। फिलहाल राज्य में कोई संवैधानिक संकट नहीं है।
उन्होंने कहा कि राज्य के हालात पर मेरी पैनी नजर है। शुक्रवार को भी उन्होंने सपा सुप्रीमो द्वारा सीएम अखिलेश और रामगोपाल यादव को पार्टी से निष्कासित होने के बाद फैले अराजकता को देखते हुए कहा था कि यदि कोई संवैधानिक संकट सामने आता है तो निश्चित रूप से वह उचित कदम उठाएंगे।
गौरतलब है कि पिछले तीन दिनों में मचे उथल-पुथल से प्रदेश में भर अराजकता का माहौल परसा हुआ है। साल के आज पहले दिन भी निष्कासन और नोटिस भेजने का दौरा जारी रहा।
सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने तीन वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से निष्कासित किया। जिनमें पार्टी महासचिव और राज्य सभा सासंद नरेश अग्रवाल और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा शामिल रहे। वहीं सपा सुप्रीमो ने रामगोपाल यादव को भी पार्टी से तीसरी बार बाहर का रास्ता दिखाया
अखिलेश समर्थकों में देखा गया भारी आक्रोश-
सपा में मचे बवाल के बीच अखिलेश समर्थकों ने आज पार्टी कार्यालय पर कब्जा कर लिया। भारी संख्या में कार्यालय पहुंचकर समर्थकों ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव की नेमप्लेट उखाड़ फेकी। इसे देखते हुए प्रदेश में पुलिस ने सुरक्षा को बढ़ा दिया है, इसके साथ ही कई शहरों में हाई अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। इसके अलावा लखनऊ में सुरक्षा व्यवस्था को और बढ़ा दिया गया है। समाजवादी पार्टी, अखिलेश यादव के निवास 5 कालिदास मार्ग व मुलायम सिंह यादव के घर के बाहर की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *