Breaking News

मुलायम सिंह यादव होंगे यूपी के नए सीएम!

mulayam30लखनऊ। उत्तर प्रदेश में समाजवादी घमासान के बीच सपा मुखिया पार्टी नेतृत्व के साथ प्रदेश में पार्टी का चेहरा बन सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक़ मुलायम राज्य में सपा सरकार की कमान संभाल सकते हैं. जानकारी के मुताबिक़ रामगोपाल व अखिलेश के पार्टी से निष्कासन के बाद अब राज्य में पार्टी को बड़ी टूट से बचाने के लिए मुलायम ने प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल की सलाह पर इसके लिए हामी भर दी है. अखिलेश की जिस तरह पार्टी में लोकप्रियता है उसके आगे सिर्फ मुलायम सिंह यादव ही एक ऐसा चेहरा हैं जो पार्टी में सबको मान्य होंगे और पार्टी के सभी तबकों को लेकर साथ चल सकेंगे.

हालाँकि, यह होना इतना आसान नही हैं. सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जल्द ही राज्यपाल को बहुमत में होने के प्रमाण के तौर पर विधायकों की सूची सौपने वाले हैं. जानकारी के मुताबिक़ अखिलेश धड़े में प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में आगे माने जा रहे सांसद धर्मेंद्र यादव विधायकों को अखिलेश के साथ जोड़े रखने को लेकर सक्रिय हो गए हैं. हालाँकि, उन्हें वैसी सफलता नही मिल रही है. एक दिन पहले टीपूँ तुम संघर्ष करो का नारा बुलंद कर रहे कई विधायक मुलायम के मैदान में आने के एलान के बाद पुनर्विचार करने में जुट गए हैं.

क्या कहते हैं संवैधानिक एकस्पर्ट?
संविधान के जानकार सुभाष कश्यप ने एबीपी न्यूज को बताया कि पार्टी से निकाले जाने के बाद सीएम को सदन में अपने पक्ष में बहुमत साबित करना होगा. राज्यपाल को अगर लगता है कि सदन में मुख्यमंत्री बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे तो ऐसे में राज्यपाल मुख्यमंत्री को अपने पक्ष में बहुमत साबित करने का न्यौता दे सकते हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री को सदन में अपने लिए बहुमत साबित करना होगा.

Loading...

मुख्यमंत्री और मंत्री परिषद सदन के लिए उत्तरदायी होता है. अगर वो बहुमत का समर्थन खो देते हैं तो उन्हें पद छोड़ना होगा लेकिन अगर वह बहुमत साबित कर पाते हैं तो वह पद पर बने रहेंगे.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *