Breaking News

मोदी बोले, नोटबंदी ने अच्छे-अच्छों का खेल खत्म कर दिया है

modii19कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानपुर के निराला नगर रेलवे मैदान में बीजेपी की परिवर्तन महारैली को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में परिवर्तन की आंधी चल पड़ी है। पिछले कुछ दिनों से मुझे उत्तर प्रदेश में कई बार आने का सौभाग्य मिला है। मोदी ने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में प्रदेश का हर नागरिक परिवर्तन का संकल्प ले चुका है। देश के नौजवान के पास बहुत ऊर्जा है। हम देश के नौजवानों के लिए योजनाएं चला रहे हैं। यूपी ने देश को स्थिर सरकार देने में योगदान दिया।
नोटबंदी के मुद्दे पर विपक्ष को निशाने पर लेते हुए मोदी ने कहा कि कालाधन बंद करना हमारा एजेंडा था लेकिन विपक्ष का एजेंडा संसद बंद करने का था।म्यूनिसिपल में चुने हुए लोग भी ऐसा व्यवहार करने से पहले 50 बार सोचते हैं। मोदी ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ कि बेईमानों की मदद करने के लिए कुछ लोग संसद में नारे बोल रहे थे। केंद्र सरकार गरीबों के प्रति समर्पित है पर विपक्ष गरीबों का हक छीन रहा है। विपक्षी पार्टियों ने संसद में काम नहीं होने दिया, सिर्फ नारेबाजी की। नोट बंदी के बाद गरीबों के घर पर कालेधन वाले खड़े हो गए थे। पीएम ने कहा कि 8 नवंबर को हमने नोटबंदी का फैसला लिया, उसके बाद कई लोगों के पसीने छूट गए। अब छोटे नोट और छोटे लोगों की पूछ है। पीएम ने बताया कि यूपी के 1500-1600 गांवों में बिजली के खंभे नहीं थे। अब सिर्फ 0-72 गांव ऐसे हैं, जहां बिजली नहीं है। हमने यूपी के गांवों में बिजली पहुंचाई है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस समय हमारा देश दो हिस्सों में बंटा है। एक तरफ कालेधन को बचाने वाले हैं तो दूसरी तरफ पूरा हिंदुस्तान भ्रष्टाचार के खिलाफ है। सपा सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि यूपी के लोग गुंडागर्दी से तंग आ चुके हैं। गुंडागर्दी करने वाले चुनाव में सब कुछ कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश की सरकार नहीं बदलेगी तो गुंडागर्दी बंद नहीं होगी। सरकार में बैठे लोग गुंडागर्दी को शह दे रहे हैं।
पीएम ने कहा कि हमारे देश में लोकसभा-विधानसभा चुनाव एक साथ होने चाहिए। अलग-अलग चुनाव होने से देश पर आर्थिक बोझ पड़ता है। विपक्ष ने इस मुद्दे पर संसद में चर्चा में भाग नहीं लिया। मोदी ने कहा कि दलों के कालेधन से मुक्ति के आह्वान पर चुनाव आयोग का अभिनंदन करता हूं।
पीएम ने कहा कि पहले गैस का कनेक्शन लेने के लिए पापड़ बेलने पड़ते थे। हमने बीड़ा उठाया है कि 3 साल के भीतर गरीब परिवारों को लकड़ी के चूल्हे से मुक्त कर देंगे। उत्तर प्रदेश में गन्ना किसान परेशान रहते हैं, किसानों को पैसा नहीं मिलता है। पहली बार मिलें फिर चालू हुईं और बकाया राशि के भुगतान में सरकार को सफलता मिली है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *