Breaking News

राजनीतिक दलों के बेनामी चंदे पर बोले मोदी, कहा- चुनाव आयोग के प्रस्ताव का स्वागत

kanpurmodi-modiकानपुर। राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे पर चुनाव आयोग के प्रस्ताव का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वागत किया है। कानपुर में बीजेपी की परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि राजनीतिक दलों के प्रति आम लोगों के मन में अविश्वास भरा पड़ा है और यह दलों की जिम्मेदारी है कि वे जनता को ईमानदारी का भरोसा दिलाएं। नोटबंदी पर संसद का कामकाज ठप करने के लिए कांग्रेस पर हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार का अजेंडा भ्रष्टाचार बंद करना है जबकि विरोधियों का अजेंडा संसद बंद करना है। उन्होंने फिर भरोसा दिलाया कि 30 दिसंबर के बाद नोटबंदी के चलते लोगों को हो रही दिक्कतें कम होनी शुरू हो जाएंगी।

उनका अजेंडा संसद बंद करना
कानपुर के निराला नगर रेलवे ग्राउंड पर भारी संख्या में जमा हुए लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने संसद में नोटबंदी पर हंगामा करने के लिए विपक्ष को खूब लताड़ा। उन्होंने कहा, ‘एक तरफ हम देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने की लड़ाई लड़ रहे हैं, हमारा अजेंडा है भ्रष्टाचार बंद हो, उनका अजेंडा है संसद बंद हो। पूरे महीने संसद नहीं चलने दी, चर्चा नहीं की। राष्ट्रपति के कहने के बाद भी हो हल्ला करते रहे। वे चर्चा से इसलिए भाग रहे थे कि अब तक जिन लोगों ने सरकार चलाई है उनके लिए हिसाब देना महंगा पड़ रहा है।’ मोदी ने कहा कि संसद में पहले भी हंगामा होता था, पर पहली बार ऐसा हुआ कि बेईमानों की मदद के लिए संसद में नारे लगाए गए।

ऐसा तो म्युनिसिपलटी वाले भी नहीं करते
संसद में हंगामे के दौरान लोकसभा स्पीकर की ओर कागज फेंकने की घटना की कड़ी निंदा करते हुए मोदी ने कहा कि म्युनिसिपलटी में चुने हुए लोग भी ऐसा व्यवहार करने से पहले 50 बार सोचते हैं। मोदी ने कहा कि देश दो टुकड़ों में बंट गया है, एक तरफ बेईमानों की मदद कर रहे मुट्ठी भर नेता हैं और दूसरी तरफ देश की आम जनता है।

बेनामी चंदे पर चुनाव आयोग के साथ
पिछले दिनों राजनीतिक दलों के चंदे को लेकर उठ रहे सवालों को लेकर भी पीएम मोदी ने कानपुर में बड़ा बयान दिया। इस संबंध में चुनाव आयोग के प्रस्ताव का स्वागत करते हुए मोदी ने कहा, ‘मैं चुनाव आयोग का भी अभिनंदन करता हूं कि उसने राजनीतिक दलों को भी कालेधन से मुक्ति का आह्वान किया है। हम इसका स्वागत करते हैं। देश में राजनीतिक दलों और राजनेताओं के प्रति लोगों के दिल में अविश्वास भरा पड़ा है। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम जनता को ईमानदारी का भरोसा दिलाएं।’ बता दें कि चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को 2 हजार से ज्यादा के गुप्त चंदे पर रोक लगाए जाने की बात कही थी।

Loading...

सर्वदलीय बैठक में कही थी बात
प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सिलसिले में उन्होंने सर्वदलीय बैठक में कहा था कि संसद में इस पर चर्चा होनी चाहिए, सभी दलों को मिलकर तय करना चाहिए कि चंदा किस तरह से लिया जाए। मोदी ने अपने संबोधन में चुनाव सुधारों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा और विधानसभा के चुनाव अलग-अलग होने से देश पर बोझ पड़ता है इसलिए ये चुनाव साथ होने चाहिए।

यूपी में परिवर्तन की आंधी
इसके अलावा मोदी ने कहा कि यूपी में परिवर्तन की लहर नहीं, आंधी चल पड़ी है। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लग रहा है कि आने वाले चुनाव में यूपी का हर नागरिक परिवर्तन का संकल्प पूरा करने के लिए जी जान से जुट गया गया है।’ मोदी ने कहा कि यूपी में गुंडागर्दी को सरकार में बैठे लोग शह दे रहे हैं और जब तक लखनऊ में सरकार नहीं बदलेगी, ये लोग ठिकाने नहीं लगने वाले हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *