Breaking News

लखीमपुर हिंसा के बाद UP के 27 जिलों में अलर्ट:पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी DM-SSP को सतर्क रहने के आदेश, लखनऊ से हो रही मॉनिटरिंग

दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर चैकिंग करते पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskarलाइवइंडिया 18  न्यूज़

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों के आंदोलन के दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप है। मामला बढ़ता देख भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत गाजियाबाद से लखीमपुर के लिए रवाना हो गए। इस बीच, वेस्ट यूपी के 27 जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। लखनऊ में बैठे आला अधिकारी लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सभी जिलों के डीएम, एसएसपी को सुरक्षा संबंधी विशेष निर्देश दिए गए हैं।

किसानों पर रखी जा रही नजर

लखीमपुर की घटना के बाद वेस्ट यूपी के किसानों पर नजर रखी जा रही है। जहां-जहां किसानों का धरना व प्रदर्शन चल रहा है, वहां लोकल इंटेलिजेंस यूनिट यानी LIU और पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। भारतीय किसान यूनियन, संयुक्त किसान मोर्चा और दूसरे किसान संगठन के लोगों पर पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

6 मंडलों में फुल अलर्ट

मंडल के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बागपत और बुलंदशहर में अलर्ट किया गया है। सहारनपुर मंडल के सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर में पुलिस प्रशासन को विशेष सावधानी के निर्देश दिए गए हैं। पीलीभीत, बरेली, बदायूं, आगरा, मथुरा, मुरादाबाद, अमरोहा, नोएडा, बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़, अलीगढ़, हाथरस, मुजफ्फरनगर, रामपुर, शाहजहांपुर, एटा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, बिजनौर, फर्रुखाबाद, इटावा, और औरैया में भी सुरक्षा प्रबंध सख्त कर दिए गए हैं।

मेरठ में सिवाया टोल पर बैठे किसान
मेरठ में सिवाया टोल पर बैठे किसान

हाईवे पर पैनी नजर, फोर्स रिजर्व की गई

Loading...

लखीमपुर में किसान जहां सड़कों पर उतर आए हैं। ऐसे में वेस्ट यूपी के जिलों में किसान अलग-अलग हाईवे पर उतर कर प्रदर्शन कर सकते हैं। कोई अप्रिय घटना न हो, इसलिए पैनी नजर रखी जा रही है। यूपी पुलिस के अलावा, पीएसी व आरएएफ को भी रिजर्व में रखा गया है।

मानवता को शर्मसार कर रही सरकार

भारतीय किसान यूनियन के नेता गौरव टिकैत ने बताया की जो भी संयुक्त किसान मोर्चा फैसला लेगा उसी को लेकर आगे काम किया जाएगा। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता नरेश टिकैत लखीमपुर पहुंच रहे हैं। हम किसानों से अपील कर रहे हैं की संयम बरतें। सरकार किसानों को मानवता से शर्मसार कर रही है।

वेस्ट यूपी में चल रहा है किसानों का धरना

3 नए कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बार्डर, सिंघु बार्डर, टीकरी बॉर्डर, दिल्ली के बाहर सारी सीमाओं पर किसानों का धरना चल रहा है। मेरठ में कमिश्नरी और सिवाया टोल पर किसान धरने पर बैठे हैं। गाजियाबाद के मंडोला में किसानों का धरना चल रहा है। रूहाना टोल, जेवर टोल पर भी किसानों का धरना चल रहा है। गाजियाबाद में सिंघु बॉर्डर पर खुद गाजियाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह और एसएसपी पवन कुमार पहुंच चुके हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *