Breaking News

प्रधानमंत्री मोदी की बैंकरों को सख्त चेतावनी- नया पाप करने वाले किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे

modidisaबनासकांठा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के बाद काला धन सफेद करने में मदद करने वाले बैंकरों को बहुत सख्त संदेश दिया है। गुजरात के बनासकांठा में बीजेपी की रैली में प्रधानमंत्री ने स्पष्ट कहा कि 8 नवंबर के बाद जिस किसी ने नए पाप किए, उन्हें किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। मोदी ने कहा, ‘सरकार भ्रष्टाचारियों के पीछे पड़ी हुई है। आपने देखा होगा कि जिन बैंक अधिकारियों और दूसरे लोगों ने बड़ी मात्रा में काले धन को ठिकाने लगाया, वे अब जेल जा रहे हैं। उन्हें लगा था कि वे पिछले वाले दरवाजे से अपना काम कर लेंगे, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि मोदी ने पिछले दरवाजे पर भी कैमरे लगाए हुए हैं।’

मोदी ने भाषण के दौरान नोटबंदी से फिलहाल कोई फायदा नहीं होने का दावा करनेवाले विश्लेषकों की भी कड़ी आलोचना की। पीएम ने ऐसे एक्सपर्ट्स के विचारों की तुलना चार्वाक मुनि के दर्शन से की। उन्होंने कहा, ‘आजकल बड़े बुद्धिमान लोग भाषण सुनाते हैं। उनका कहना है कि इतने बड़े फैसले से जीते जी कोई फायदा नहीं होगा, मरने के बाद ही इसका फायदा मिलेगा।’ मोदी ने कहा कि चार्वाक मुनि कहते थे कि ऋणम कृत्वा घृतम पिबेत यानी मृत्यु के बाद क्या होने वाला है क्या पता, अभी ही घी पीकर मौज कर लो।

मोदी ने कहा कि चार्वाक के दर्शन को कभी देश ने स्वीकार नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘यह ऐसा देश है कि गरीब मां-बाप पैसे कम होने पर शाम को सब्जी बनाना बंद कर देते हैं। पैसे बच जाएंगे, तो बच्चों के काम आ जाएंगे। मेरा देश स्वार्थी लोगों का देश नहीं है।’

प्रधानमंत्री ने नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानी की भी बात की। उन्होंने कहा, ‘पहले दिन से कहा कि ये फैसला मामूली नहीं है, बहुत मुश्किल भरा फैसला है। मैंने कहा था बहुत तकलीफ होगी, मुसीबत आएगी और यह तकलीफ 50 दिन के लिए है। इस दौरान तकलीफ बढ़ती जाएगी, लेकिन 50 दिन बाद धीरे-धीरे स्थिति सुधर जाएगी।’

Loading...

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी काले धन को सफेद करने की कोशिश पर कहा कि जो लोग पिछले दरवाजे से बैंकों में अपना काला धन जमा करवा रहे हैं, वे यह न समझें कि बैंक में पैसा जमा हो गया तो वह सफेद हो गया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *