Breaking News

MLC संतोष यादव के आवास पर ईडी की रेड, सीएम अखिलेश यादव के है खास

santosh-yadvaलखनऊ। यूपी में सीएम अखिलेश यादव के नजदीकि माने जाने वाले विधान परिषद् सदस्य संतोष यादव के घर पर अचानक पड़े प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापे से राजधानी लखनऊ में हड़कंप मच गया है. बताया जाता है कि ईडी के अफसरों को यह खबर मिली है कि संतोष के जरिये करोड़ों रुपये के कालेधन को सफ़ेद किये जाने के लिए समाजवादी कुनबे ने उसके घर नोटें पहुंचाई है.

सूत्रों के मुताबिक ईडी ने राजधानी लखनऊ के 3 बैंकों पर भी इसी सिलसिले में एक साथ छापे मारे की है. बताया जाता है कि कालेधन के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय की अब तक की यह सबसे बड़ी कार्रवाई है. इसमें प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने एक साथ देश के 50 बैंकों पर छापेमारी की है. प्रवर्तन निदेशालय को यह जानकारी मिली है कि लखनऊ के बैंकों ने गलत तरीके से नोट बदले हैं. इस मामले में बैंकों के बड़े अफसर भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि छापेमारी के दौरान प्रवर्तन निदेशालय के हाथ कुछ अहम सबूत लगे हैं, जिसके बाद हड़कंप मच गया है.

दरअसल प्रवर्तन निदेशालय को यह जानकारी मिली है कि लखनऊ के बैंकों ने गलत तरीके से नोट बदले हैं. इस मामले में बैंकों के बड़े अफसर भी शामिल हैं. इन्‍होंने 500 से अधिक खातों में करोड़ों रुपए काला धन जमा कराया है. आपको बता दें कि 8 नवंबर कि रात 8 बजे पीएम मोदी ने जैसे ही पुरानी 500 और 1000 रुपये की नोटबंदी करने का ऐलान किया. जिसके तीन दिनों के भीतर सपा कुनबे ने लखनऊ के कई बड़े ज्वेलर्स के यहां से गोल्ड खरीदकर अपने कालेधन को सफ़ेद किया है.

Loading...

यही नहीं ईडी को यह भी जानकारी मिली है कि सरकार के तीन बड़े बिल्डरों ने भी जमकर गोल्ड की खरीददारी की है. जिसके बाद से ईडी की आधा दर्जन टीमों को इस काम में कालेधन को सफ़ेद करने वालों के खिलाफ सबूत इकट्ठा करने के निर्देश दिए गए थे. जिसके चलते ये टीमें देश के अलग -अलग स्थानों से सबूत जुटाने में जुटी हुई थीं. सूत्रों के मुताबिक ईडी की जांच कर रही टीम को कुछ ऐसे सुराग हाथ लगे हैं, जिनको लेकर यह चर्चा है कि संतोष के जरिये भी कई बैंकों में पुरानी नोटें भेजकर बदलवाने गए थे. फिलहाल अभी छापेमारी कि कार्यवाही जारी है. खबर है कि ईडी टीम को संतोष के घर से कुछ अहम् सुराग हाथ लगे हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *