Wednesday , March 3 2021
Breaking News

पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में फर्जीवाड़ा, केंद्रीय मंत्री ने किया खुलासा

electicitiलखनऊ। केंद्र सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (डीडीयूजीजेवाई) में भ्रष्टाचार सामने आया है। यूपी के शाहजहांपुर जिले में बिजली विभाग के आला अधिकारियों ने ठेकेदारों की मिलीभगत से इस योजना में जमकर घपला किया। अधिकारियों ने कागजों में हेराफेरी कर जिले के 60 से अधिक गांवों में विद्युतीकरण दिखा दिया। इसका खुलासा खुद शाहजहांपुर की सांसद और केंद्रीय मंत्री कृष्णा राज ने जांच के बाद किया। उन्होंने इसकी शिकायत केद्र सरकार से की है। जिसके बाद जिले के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

केंद्रीय मंत्री कृष्णा राज के अनुसार, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत 200 करोड़ 27 लाख रुपये से जिले के सभी ग्रामों का विद्युतीकरण होना था। जिसमें कई अधिकारियों ने ठेकेदारों की मिलीभगत से कागजों में हेराफेरी कर जिले के 64 गांवों का कागजों में ही विद्युतीकरण कर दिया। जिन 64 गांवों का विद्युतीकरण होना था वहां बिजली के नाम पर एक खंभा भी नहीं लगा।

bjp mp krishna raj

केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णा राज

Loading...

इसकी जानकारी जब भाजपा सांसद कृष्णराज को हुई तो उन्होंने अपने स्तर से इस फर्जीवाड़े की जांच करायी। इसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय से की। मंत्रालय ने भी इस गंभीरता से लिया है। भाजपा सांसद ने बताया कि कई केंद्रीय एजेंसियों को इस फर्जीवाड़े की जांच सौंप दी गई है। फर्जीवाड़ा करने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा। वहीं इस खबर के बाद जिले के अधिकारियों में हड़कंप मचा गया है।

केंद्र सरकार की दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि और गैर कृषि उपभोक्ताओं को विवेकपूर्ण तरीके से बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करना है। खास बात यह है कि इस योजना में आधुनिक तरीके से जिले के गांव का विद्युतीकरण किया जाना है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में वितरण और उप – पारेषण प्रणाली को मजबूत किया जाना है। जिसमें वितरण ट्रांसफार्मर, फीडर और उपभोक्‍ताओं के लिए मीटर लगाना सम्मिलित होगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *