Breaking News

‘मन की बात’ में बोले मोदी, कैशलेस नहीं तो ‘लेस-कैश’ सोसायटी तो बनाई जा सकती है

man-ki-baatनई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर कैशलेस सोसायटी की वकालत कहते हुए कहा है कि कैशलेस बनने में भले वक्त लग सकता है, पर कम से कम ‘लेस-कैश’ सोसायटी बनने की ओर तो बढ़ा जा सकता है। आकाशवाणी पर अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए मोदी ने रविवार को युवाओं से अपील की है कि वे ‘लेस-कैश’ सोसायटी बनाने के लिए तकनीक के प्रति लोगों को जागरूक करने में मदद करें। पीएम ने गरीबों के जनधन खाते में अपना पैसा जमा कराने वालों को भी चेतावनी देते हुए कहा कि गरीब की जिंदगी से खिलवाड़ न करें।

70 साल की बीमारी है
‘मन की बात’ कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि वह जानते हैं कि नोटबंदी के फैसले से लोगों को काफी मुश्किलें हो रही हैं। उन्होंने कहा, ‘फैसला इतना बड़ा है कि हालात पूरी तरह सामान्य होने में वक्त लगेगा, पर 70 साल की बीमारियों से मुक्ति इतनी सरल नहीं। आपको राहत देने के लिए सरकार ढेर सारे प्रयास कर रही है।’

10 परिवारों को तकनीक सिखाएं
प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में कई बार जोर देकर युवाओं से अपील करते हुए कहा कि वे कैशलेस सोसायटी बनाने में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा, ‘दिन में आधा घंटा निकालकर कम से कम 10 परिवारों को तकनीक का इस्तेमाल करना सिखाएं। नोटों के चक्कर से देश को बाहर लाने के अभियान में सहयोग करें।’ पीएम ने केन्या की मिसाल देते हुए कहा कि बदलाव और क्रांति युवा ही लेकर लाते हैं।

ऐसे लोग दे रहे अपना योगदान
मोदी ने कई उदाहरण देते हुए बताया कि कैसे देश के लोग मुश्किलों को झेलने के बाद भी भ्रष्टाचार के खिलाफ इस महायज्ञ में अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने खंडवा में एक बुजुर्ग के दुर्घटना में घायल होने के बाद बैंक कर्मी की ओर से दी गई मदद, सूरत में 500 रुपये में मेहमानों को चाय पिलाकर संपन्न हुई शादी और महाराष्ट्र के अकोला में मुफ्त में खाना खिलाने वाले ढाबे का जिक्र किया।

गरीब की जिंदगी से न करें खिलवाड़
जनधन खातों के बारे में लगातार इस तरह की खबरें आ रही हैं कि गरीबों के खाते में कुछ लोग अपना काला धन खपा रहे हैं। ऐसे लोगों को चेतावनी देते हुए पीएम ने कहा, ‘बुराइयां इतनी फैली हैं कि कुछ लोगों की आदत नहीं जाती। भ्रष्टाचार का काला धन खपाने के लिए वे गैरकानूनी रास्ते ढूढ़ रहे हैं। गरीबों को लालच देकर उनके खातों में पैसे डालकर अपना पैसा बचाने की कोशिश कर रहे हैं। मैं ऐसे लोगों से कहता हूं कि मेहरबानी कर के आप गरीबों की जिंदगी के साथ मत खेलिए। रिकॉर्ड पर गरीब का नाम आ जाएगा तो वह आपके पाप के कारण फंस जाएगा।’

Loading...

भारी टैक्स जमा, बुआई भी बढ़ी
पीएम ने बताया कि नोटबंदी के चलते इस साल देश के नगरीय निकायों को भारी मात्रा में टैक्स प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि 47 शहरी इकाइयों में पिछले साल के तीन-साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये की तुलना में इस वर्ष अभी तक 13 हजार करोड़ रुपये का टैक्स जमा हुआ है, जो गरीब बस्तियों के विकास में काम आएगा। इसके अलावा किसानों की तारीफ करते हुए मोदी ने बताया कि तमाम मुश्किलों के बाद भी पिछले साल की तुलना में काफी मात्रा में बुआई बढ़ी है।

सैनिकों को हर खुशी में करें शामिल
कार्यक्रम की शुरुआत में प्रधानमंत्री ने इस साल सैनिकों के साथ मनाई दिवाली का जिक्र किया। उन्होंने देश के लोगों से आह्वान किया कि हर खुशी के मौके पर वे देश के जवानों को शामिल करें। उन्होंने कहा, ‘मेरी अपील है कि एक समाज के रूप में हम ऐसा स्वभाव बनाएं कि देश की सेवा में जुटे जवानों को किसी न किसी रूप में जरूर याद करें।’

कश्मीर के बच्चे विकास चाहते हैं
इसके अलावा पीएम मोदी ने कश्मीर में स्कूल जलाए जाने की घटनाओं को भी ‘मन की बात’ में शामिल किया। उन्होंने कहा कि कश्मीर के बच्चों ने बड़ी संख्या में परीक्षा में शामिल हो कर साबित कर दिया कि वे शिक्षा के माध्यम से विकास की नई ऊंचाइयों को पाना चाहते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *