Breaking News

मोदी के IT सेल की ताज़ा ब्लैक लिस्ट से मच गया है यूपी के नेताओं में हड़कंप, जानिए कौन हैं ये नेता

modi-4नई दिल्ली। पीएम मोदी के आदेश के बाद देश भर में चल रहे शिक्षा के नाम पर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों की जांच आयकर विभाग की आईटी सेल ने शुरू कर दी है. जिसके चलते यूपी के कई दिग्गज नेताओं के हाथपांव फूलते दिखाई दे रहे हैं. बताया जाता है कि कई विधायकों और सांसदों ने अपने एजुकेशनल संस्थानों को बचाये जाने के लिए अपनी पार्टियां छोड़कर बीजेपी का दामन थामना शुरू कर दिया है।

सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी का आदेश आते ही आयकर विभाग कि आईटी सेल ने ऐसे एजुकेशनल संस्थानों की सूची तैयार करनी शुरू कर दी है. इस सूची में यूपी के कई दिग्गज राजनीति के महारथियों का नाम भी शामिल है. यही नहीं सत्ता में बने रहने के लिए समय-समय पर ये राजनीतिक खिलाडी अपने इन्हीं संस्थानों को बचाये जाने के लिए पाले बदलते रहे हैं।

और तो और पीएम मोदी की इस मार से यूपी के दर्जनों नेता घबराये हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक मोदी की इस मार में बीजेपी के कई विधायक और मंत्री भी चपेट में आ रहे हैं. बताया जाता है कि आईटी सेल जो सूची तैयार कर रही है. उसमें यूपी के सपा से राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल, बीजेपी नेता अखिलेश दास, जगदम्बिका पाल, प्रमोद तिवारी जैसे कई दिग्गज और राजनीति केव धुरंधर खिलाडी शामिल हैं।

Loading...

बताया जाता है कि शिक्षा के नाम पर निजी मेडिकल और इंजीनियरिंग कालेजों  में डोनेशन लेकर सीटों की भारी पैमाने पर सीटें बेचीं जाती हैं. जिसके चलते तमाम संस्थानों के मालिकों और राजनेताओं ने कालाधन दबा रखा है. इसी को लेकर आयकर विभाग की आईटी सेल 30 दिसंबर के बाद देश में बड़े पैमाने पर निजी कालेजों पर छापे मारी करने की तैयारी कर रही है. इसी को लेकर आईटी सेल सूची बना रही है।

इस सूची में यूपी के कई बड़े नेताओं का नाम आने के बाद से उनके हाथपांव फूलते दिखाई दे रहे हैं. बताया जाता है कि गाज़ियाबाद और नोएडा से लेकर पूर्वी उत्तर प्रदेश के दर्जनों निजी कालेज इसमें शामिल हैं. सूत्रों के मुताबिक अखिलेश दास ने मोदी की इस कार्यवाही से बचने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के जरिये बीजेपी का दामन थाम लिया है. बहरहाल मोदी के आदेश के बाद देश में निजी कालेजों के खिलाफ छापेमारी कि कार्यवाही शुरू की जा चुकी है। इसी के तहत बैंगलोर में एक मेडिकल कालेज में छापेमारी कर 43 करोड़ रुपये आईटी सेल ने बरामद किये हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *