Breaking News

हाफिज ने कश्मीरियों को उकसाया, भारत को दी गीदड़ भभकी

saeedमुजफ्फराबाद। मुंबई में 26/11 के आतंकी हमले का मास्टरमाइंड और भारत के खिलाफ आग उगलने वाला पाकिस्तानी मौलवी हाफिज सईद ने पठानकोट में दो जनवरी को इंडियन एयरफोर्स के बेस पर हुए आतंकी हमले की तारीफ की है। इस हमले के बाद से दोनों परमाणु शक्ति संपन्न देशों के बीच शांति वार्ता टूट गई है। हाफिज सईद प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का हेड भी है। उसने पठानकोट में हुए हमले की तारीफ की है। इस हमले में भारत के सात सुरक्षा कर्मी शहीद हो गए थे।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हजारों लोगों को संबोधित करते हुए सईद ने कहा, ‘आठ लाख भारतीय फौजी कश्मीरियों का नरसंहार कर रहे हैं। क्या इन्हें अपनी सुरक्षा में पठानकोट जैसे हमले करने का अधिकार नहीं है?’ सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूमता है और भारत के खिलाफ आतंकी हमलों की जमकर तारीफ करता है। उसने कश्मीरी आतंकी नेता सईद सलाहुद्दीन की भी प्रशंसा की। सलाहुद्दीन यूनाइटेड जिहाद काउंसिल का प्रमुख है। इसी ने पठानकोट हमले की जिम्मेदारी ली है। हाफिज ने कहा कि आपको केवल पठानकोट हमला नजर आता है। उसने कहा कि भारत कश्मीर मुद्दे को ठंडे बस्ते में डालने की कोशिश में लगा है।

हाफिद सईद की रैली में भीड़ जमकर नारेबाजी कर रही थी। भीड़ नारा लगा रही थी- ‘कश्मीर की आजादी तक जंग रहेगी जारी और हम जिहाद के लिए तैयार हैं।’ भारतीय सुरक्षा बलों का कहना है कि पठानकोट में हमले के पीछे पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है। भारत हाफिज सईद को लेकर पाकिस्तान के साथ कई बार आपत्ति जता चुका है। यूनाइडेट नेशन ने भी जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित कर रखा है।

Loading...

हाफिज ने भीड़ को उकसाते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य कश्मीर की आजादी है। हाफिज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी कि वह कश्मीरियों की भावनाओं को समझें। उसने कहा, ‘मोदी को भी समझना चाहिए कि कश्मीरी क्या चाहते हैं। मोदी क्यों कश्मीरियों की आवाज को आर्मी से कुचलना चाहते हैं। यह बहुत ही स्वभाविक है कि आप किसी की आवाज दबाएंगे तो उसकी किसी न किसी रूप में प्रतिक्रिया होगी। इसका असर कभी पाकिस्तान में दिखेगा तो कभी भारत में।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *