Breaking News

पूर्व सेना प्रमुख बोले, पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से सतर्क रहने की जरूरत

pak-bajwaनई दिल्ली। पूर्व सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह का कहना है कि भारत को पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ चुने गए लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा से सतर्क रहने की जरूरत है। जनरल बिक्रम सिंह संयुक्त राष्ट्र के एक मिशन में बाजवा के साथ काम कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि हमें बाजवा और उनके दृष्टिकोण के प्रति सतर्क रहने और निगाह बनाए रखने की जरूरत है। पूर्व सेना प्रमुख ने लेफ्टिनेंट जनरल बाजवा को ‘बेहद प्रफेशनल’ व्यक्ति करार देते हुए कहा कि कॉन्गो में उनके मातहत काम करते हुए उन्होंने ‘बेहतरीन परफॉर्मेंस’ दी थी, लेकिन किसी भी अधिकारी के लिए स्वदेश वापसी के बाद चीजें पूरी तरह बदल जाती हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह ने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र में तैनाती के दौरान सभी अधिकारी काफी मिलनसार होते हैं क्योंकि वहां विश्व शांति का लक्ष्य रहता है। लेकिन किसी भी अधिकारी के लिए स्वदेश वापसी के बाद स्थितियां बदल जाती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि तब आपके लिए अपने देश का हित सर्वोपरि हो जाता है।’ उन्होंने कहा कि भारत को देखो और इंतजार करो की नीति अपनाते हुए बाजवा के प्रति सतर्कता बनाए रखनी चाहिए।

मौजूदा पाकिस्तानी सेना प्रमुख रहील शरीफ के रिटायरमेंट के बाद नीतिगत बदलाव की संभावना पर बिक्रम सिंह ने कहा, ‘मैं नहीं मानता कि पाकिस्तानी सेना की नीति में कोई बदलाव होगा।’ हालांकि पूर्व सेना प्रमुख ने उम्मीद जताई कि बाजवा आतंकवाद को भारत से अधिक पाकिस्तान के लिए खतरा मानेंगे, जैसा कि वह पहले भी कहते रहे हैं।

Loading...

पीएम नवाज शरीफ द्वारा पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख चुने गए प्रताप सिंह बाजवा को भारत से लगी एलओसी सीमा के मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है। इसके अलावा पीओके और गिलगित-बल्तिस्तान से जुड़े मामलों पर भी उनकी गहरी पकड़ मानी जाती है। गौरतलब है कि लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा लंबे समय तक भारत की सीमा से जुड़े इलाकों में काम करते रहे हैं और माना जाता है कि उन्हें सीमा के दोनों ओर के हालातों का खासा अनुमान है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *